धरना दिया:अग्निपथ योजना न देश की सुरक्षा और न ही युवाओं के हित में, इसे जल्द वापस लें- महेंद्रा

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लघु सचिवालय परिसर में अग्निपथ के विरोध में दिया धरना

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के दिशा-निर्देश अनुसार सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लघु सचिवालय परिसर में अग्निपथ के विरोध में सत्याग्रह धरना दिया। इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक रणबीर सिंह महेंद्रा ने कहा कि देशहित, देश की सुरक्षा, फौज और युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने, अग्निपथ योजना ना देश हित में है, ना देश की सुरक्षा, ना फौज और युवाओं के हित में। इस योजना से फौज के भीतर ही 2 किस्म की फौज बन जाएंगी, एक परमानेंट और एक टेंपरेरी।

इनके बीच में समन्वय स्थापित करना बेहद मुश्किल होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार अग्निवीरों को पक्की नौकरी देने का वायदा करके सब्जबाग दिखा रही है। जबकि हकीकत यह है कि बीजेपी-जेजेपी सरकार की नीतियों के चलते हरियाणा पूरे देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी झेल रहा है। आंकड़े बताते हैं कि अब तक 29,275 पूर्व सैनिकों ने नौकरी के लिए आवेदन किया है। जबकि सरकार ने सिर्फ 543 को ही नौकरी दी है। यानी सरकार सिर्फ 1.8 प्रतिशत पूर्व सैनिकों को ही नौकरी दी है। ऐसे में 4 साल की नौकरी के बाद सेना से वापस आने वाले 75 प्रतिशत अग्निवीरों को यह सरकार नौकरी कैसे देगी?

अगर ऐसा है तो सरकार हरियाणा के अग्निवीरों को पहले पक्की नौकरी दे और 4 साल के सेना में डेपुटेशन पर भेजे। मौके पर युवा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अनिल धनखड़ ने कहा कि भारत के युवा खुद सेना में भर्ती होने का सपना देखते हैं और एक सैनिक बनकर खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं। ऐसे में इजरायल जैसे देशों की नीति भारत में लागू नहीं हो सकती। सरकार को इस पर पुनर्विचार करते हुए अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए और पक्की भर्तियां शुरू करनी चाहिए। इस मौके पर पूर्व विधायक धर्मपाल सांगवान, पूर्व विधायक रणसिंह मान, जोरावर सांगवान, धर्मेंद्र, इंद्रजीत सांगवान, बलवान एडवोकेट, जितेंद्र सांगवान, डॉ. ओम प्रकाश, आनंद एडवोकेट, नितिन जांघू, सूरज आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...