बैठक:पंचायती चुनाव में बीसीए वर्ग को आरक्षण देने के वादे से पलट रही सरकार- अमरजीत

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पैंतावास कलां में स्वर्णकार परिषद के जिला संरक्षण न लोगों के साथ की बैठक

प्रदेश की सांझी सरकार ने एक बार फिर से अपने वायदों से पलटने का काम कर दिया है, ग्रामीण चुनावों के लिए पहले कहा था कि इसमें बीसीए वर्ग के तहत आने वाले नागरिकों को आरक्षण प्रदान किया जाएगा। लेकिन अब जबकि चुनाव सिर पर आ चुके हैं तो सरकार इससे पलट गई। यह बात गांव पैंतावास कलां में स्वर्णकार परिषद जिला संरक्षण अमरजीत सोनी ने बैठक के दौरान उपस्थित समाज के लोगों को जानकारी देते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि बीसी वर्ग द्वारा काफी सालों से यह मांग निरंतर उठाई जा रही थी कि उन्हें जन प्रतिनिधित्व का उचित मौका दिलवाने के लिए ग्रामीण चुनावों में बी सी वर्ग के लिए आरक्षण घोषित किया जाए। कुछ सीटें ऐसी मिले जिन पर केवल इसी वर्ग के पुरूष अथवा महिला को मौका मिले, जो कि जीत कर समाज के विकास में अपना योगदान दे सके।

अमरजीत सेानी ने कहा कि कुछ समय पहले तक प्रदेश सरकार ने इसके लिए घोषणा भी की थी। लेकिन ऐन मौके पर जिस तरह से अपनी वायदे से पलटी खाई जा रही है उससे पूरे प्रदेश का बीसी वर्ग नाराज है। पिछले 70 सालों से ओबीसी वर्ग के साथ नाइंसाफी की जा रही है अपने साथ न्याय की उम्मीद को लेकर बीजेपी सरकार बनवाने के लिए सभी ने साथ दिया था। सभी को आस जगी थी। लेकिन वर्तमान सरकार पंचायती विभाग में आरक्षण का वादा करने के बाद कर रही है कि हमारे पास पिछड़े वर्ग का आंकड़ा नहीं है। जबकि हरियाणा सरकार द्वारा बनवाए जाने वाले परिवार पहचान पत्रों में हर एक व्यक्ति की जाति दर्शाई जा रही है। पिछले आंकड़ों का तो ना होना यह एक बहाना ही है अगर आंकड़े ही नहीं है तो किस प्रकार सरकार ने अभी तक नौकरी देते वक्त बीसी में 16 प्रतिशत आरक्षण बीसी वर्ग के लोगों को दिया सरकार अपने फैसले को वापस ले वरना बीसी वर्ग के रोष के चलते उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इस मौके पर फकीरचंद, जय भगवान सेन, महेंद्र पंच, समुंदर पंच, दयाराम सोनी, जय प्रकाश सोनी, सुनील पंच, प्रवीण व सुब्बल गौड़ रघबीर स्यामी, मंसाराम सोनी, धरमवीर सोनी, सुनील स्वामी, रामकिशन, सचिव साधु आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...