वेदर अपडेट:बारिश से 10 डिग्री लुढ़का अधिकतम पारा, कई जगह जलभराव

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश के बाद शुद्ध हुआ जिले का वातावरण। - Dainik Bhaskar
बारिश के बाद शुद्ध हुआ जिले का वातावरण।
  • बारिश के बाद 32 तक पहुंचा जिले का एयर क्वालिटी इंडेक्स, एक सप्ताह में चार गुणा बढ़ी मौसम में नमी की मात्रा

शुक्रवार को हुई तेज बारिश के बाद बार बार बारिश हो रही है। जिससे शहर में जगह जगह जलभराव से बुरे हालात हो चुके हैं। जनस्वास्थ्य विभाग ने मुख्य सड़कों से तो 80 प्रतिशत पानी निकाल दिया है, लेकिन वार्डों और कॉलोनियों की गलियों में अभी भी एक से डेढ़ फुट तक बरसाती पानी भरा हुआ है। एक तरफ तो बरसात लोगों के लिए आफत बनी हुई है, लेकिन गर्मी से पूरी राहत मिली हुई है। यहीं नहीं बारिश से प्रदूषण भी पूरी तरह हट चुका है और बिलकुल शुद्ध वातावरण हो गया है।

हवा कम और मौसम में बढ़ी नमी की मात्रा

बढ़ते तापमान के कारण तपत और लू चल रही थी। इस कारण मौसम में लगातार नमी की मात्रा घटती जा रही थी। एक सप्ताह पहले मौसम में नमी सिर्फ 15 प्रतिशत तक ही थी। लेकिन शुक्रवार के बाद मौसम में काफी बदलाव आया है और अब नमी की मात्रा बढ़कर 61 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

जिसने गर्मी व तपत से काफी राहत दिलाई हुई है। वहीं तापमान बढ़ने के साथ ही हवा की रफ्तार भी उस दौरान 20 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही थी। इस कारण लू चल रही थी। लेकिन अब हवा की रफ्तार 13 किलो मीटर प्रति घंटा रफ्तार से चल रही है।

गर्मी से मिली राहत

एक सप्ताह पहले जिले में अधिकतम पारा 43 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा हुआ था, लेकिन शुक्रवार को हुई 50 एमएम बारिश के बाद लगातार अधिकतम तापमान लुढ़कता जा रहा है। मंगलवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। तापमान कम होने कारण गर्मी से पूरी तरह राहत मिली हुई है।

शुद्ध हुआ वातावरण

जिले में तापमान बढ़ने और तेज हवा के साथ आंधी चलने से वायु प्रदूषण ज्यादा बढ़ गया था। बारिश से पहले हवा में प्रदूषण की मात्रा 160 तक पहुंच गई थी। लेकिन शुक्रवार को हुई तेज बारिश में हवा के अंदर फैले कीटाणु पूरी तरह से धुल गए हैं। इसके बाद एक्यूआई मात्र 32 पर आ गया है। एक्यूआई 50 से नीचे होने पर सांस लेने के लिए काफी शुद्ध माना जाता है।

खबरें और भी हैं...