डीजीपी ने की समीक्षा:जिले के 1200 कर्मियों को तनाव मुक्त करने को पुलिस लाइन बनाकर दिए जाएंगे आशियाने, ताकि परिवार को साथ रख सके

चरखी दादरी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नाकों पर संदिग्ध वाहनों व लोगों से पूछताछ कर रखा जाएगा रिकाॅर्ड, अपराध रोकने के लिए बढ़ाएं रात्रि गश्त

चरखी दादरी जिला बने 5 साल से ज्यादा समय हो चुका है। इसी के साथ जिले में पुलिस कर्मचारियों की संख्या भी पांच गुणा बढ़कर 1200 से ज्यादा हो चुकी है। बावजूद इसके पुलिस कर्मचारियों के पास अपने परिवार को साथ रखने की जगह तक नहीं है। कुछ कर्मचारी किराये के मकान लेकर परिवार को साथ रख रहे हैं। परिवार से दूर रहकर कर्मचारी तनाव में रहते हैं क्योंकि 24 घंटे की ड्यूटी होने से वह परिवार को संभाल नहीं पा रहे हैं।

इन हालातों को देखते हुए डीजीपी प्रशांत अग्रवाल ने दादरी एसपी दीपक गहलावत को जल्द पुलिस लाइन बनाने के लिए जगह चिन्हित करने के निर्देश जारी किए हैं। रविवार को डीजीपी दादरी पहुंचे और यहां रोहतक रेंज एडीजीपी सहित पांच जिलों के एसपी संग अपराध को लेकर समीक्षा बैठक भी की। डीजीपी ने साफ शब्दों में कहा है कि किसी भी हालात में शांति व कानून व्यवस्था बिगड़नी नहीं चाहिए। इस मौके पर डीजीपी प्रशांत कुमार अग्रवाल के दादरी पहुंचने पर पुलिस कर्मचारियों ने उन्हें सलामी दी। इस दौरान उन्होंने पीडब्लूडी रेस्ट हाउस में रोहतक रेंज अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में रोहतक रेंज एडीजीपी ममता सिंह, चरखी दादरी एसपी दीपक गहलावत, भिवानी एसपी अजीत सिंह शेखावत, सोनीपत एसपी हिमांशु गर्ग, रोहतक एसपी उदय मीना, झज्जर एसपी वसीम अकरम भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...