आरोपी शिकंजे में::पड़ोस में रहने आयी छात्रा से जान पहचान बना डिजिटल रेप करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

फरीदाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समाज में बदनाम करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने का भी किया था प्रयास, परेशान होकर युवती ने दर्ज कराया था केस। - Dainik Bhaskar
समाज में बदनाम करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने का भी किया था प्रयास, परेशान होकर युवती ने दर्ज कराया था केस।
  • विरोध करने के बावजूद कॉलेज और कोचिंग तक करता था पीछा, कई बार समझाने के बाद भी हरकतों से नहीं आया बाज, पहुंचा हवालात

परिवार के साथ पड़ोस में रहने वाली छात्रा से जान पहचान बनाकर डिजिटल रेप करने वाले एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने पीड़िता को समाज में बदनाम करने कीधमकी देकर दुष्कर्म करने का भी प्रयास किया था। पीड़िता कई बार उसे समझाने का प्रयास किया लेकिन आरोपी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। आखिर में उसे पुलिस में शिकायत दर्ज करानी पड़ी। पकड़े गए आरोपी की पहचान एनआईटी निवासी हार्दिक के रूप में हुई है।

घटना का ये है पूरा मामला

27 जून को 21 वर्षीय एक युवती ने थाना कोतवाली में शिकायत दी थी। जिसमें उसने बताया कि वह फरीदाबाद के एनआईटी में रहती है और स्नातक में द्वितीय वर्ष की छात्रा है। अंकगणित इंस्टीट्यूट में कैट के एग्जाम की तैयारी दिल्ली के कनॉट प्लेस में कर रही है। दिसंबर 2018 में उसका परिवार यहां शिफ्ट हुआ था। उनके मकान के सामने ही आरोपी हार्दिक और उसका परिवार रहता है। जब वह नए-नए आए थे, तो पड़ोसी होने के नाते उनका व्यवहार एक डेढ़ महीने तक काफी अच्छा था। धीरे-धीरे हार्दिक उससे बात करने लगा और उसके बाद उसने युवती को गंदे मैसेज भेजने शुरू कर दिए। यही नहीं आरोपी ने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाने लगा। आरोपी युवती के कॉलेज और कोचिंग सेंटर तक उसका पीछा करने लगा। धमकी देने लगा कि यदि तुमने यह बात किसी को बताई तो वह पूरे समाज में उसकी बदनामी करवा देगा।

आरोपी ने किया डिजिटल रेप, दर्ज कराया केस

युवती ने पुलिस को बताया कि उसकी वजह से वह न तो अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे पाती और न ही इसके बारे में अपने माता पिता को बता पा रही थी। 12 जून को आरोपी ने डिजिटल रेप किया। युवती ने विरोध करते हुए उसे थप्पड़ भी मारा, फिर भी आरोपी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। 19 जून की रात लगभग 8:00 बजे आरोपी युवती के घर के बाहर आया और गालियां देने लगा। परेशान होकर युवती ने इसकी शिकायत पुलिस में की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ यौन उत्पीड़न, छेड़छाड़, अश्लील मैसेज भेजने, पीछा करने, धमकी देने इत्यादि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी हार्दिक को गिरफ्तार कर लिया गया और उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

क्या है डिजिटल रेप

अगर कोई शख्स महिला की बिना सहमति के उसके प्राइवेट पार्ट्स को अपनी अंगुलियों या अंगूठे से छेड़ता है तो ये डिजिटल रेप कहलाता है। यानी जो शख्स अपने डिजिट का इस्तेमाल करके यौन उत्पीड़न करे तो ये डिजिटल रेप कहा जाता है। पिछले दिनों नोएडा पुलिस ने एक नाबालिग के साथ डिजिटल रेप करने के आरोप में 81 साल के एक पेंटर को गिरफ्तार किया था। तभी से डिजिटेल रेप चर्चा में है।