प्रतियोगिता:अंतर स्कूल प्रतियोगिता हिंदी डिबेट में स्कॉलर्स प्राइड के वंश सक्सेना  व काशी गुप्ता बने विजेता

फरीदाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हॉमरटन ग्रामर स्कूल की संध्या मिश्रा और नेत्रिका त्रिपाठी दूसरे स्थान पर रही, के एल मेहता वूमेन कॉलेज में आयोजित किया गया था कार्यक्रम।  - Dainik Bhaskar
हॉमरटन ग्रामर स्कूल की संध्या मिश्रा और नेत्रिका त्रिपाठी दूसरे स्थान पर रही, के एल मेहता वूमेन कॉलेज में आयोजित किया गया था कार्यक्रम। 

एफपीसीसी अंतर स्कूल हिंदी डिबेट प्रतियोगिता का शुभारंभ बुधवार को केएल मेहता वूमेन कॉलेज के सभागार में आयोजित किया गया। जिसमें स्कॉलर्स प्राइड स्कूल के वंश सक्सेना व काशी गुप्ता विजेता बने। हॉमरटन ग्रामर स्कूल की संध्या मिश्रा और नेत्रिका त्रिपाठी दूसरे स्थान पर रही। 37 सीबीईएस स्कूलों के कुल 74 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था। डिबेट का शीर्षक वृद्धाश्रम रखा गया था।

प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि एडिशनल डिप्टी कमिश्नर फरीदाबाद अपराजिता कहा कि इस तरह की वाद विवाद प्रतियोगिता से छात्रों में आत्मविश्वास की भावना पैदा होती है। स्कूली स्तर पर सामाजिक विषयों की जानकारी ऐसी प्रतियोगिताओं के माध्यम से ही बच्चों को देना आज के समय की मांग है। हिंदी के कवि दिनेश रघुवंशी ने वृद्धाश्रम को सामाजिक जिम्मेदारी बताते हुए कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताओं में छात्र भाग लेकर आने वाले भविष्य में कोमल ह्रदय वाले अच्छे इंसान बनेंगे। एफपीएससी के प्रधान नरेंद्र परमार हिंदी डिबेट प्रतियोगिता में 37 सीबीएसई स्कूलों के 74 विद्यार्थियों ने विषय के पक्ष एवं विपक्ष में अपना अपना पक्ष रखा। उन्हांेंने बताया कि पहले स्थान पर स्कॉलर्स प्राइड स्कूल के वंश सक्सेना और काशी गुप्ता रहे। जबकि दूसरे स्थान पर हॉमरटन ग्रामर स्कूल की संध्या मिश्रा और नेत्रिका त्रिपाठी रही। तीसरे स्थान पर बंसी विद्या निकेतन स्कूल के छात्र त्रिशा और मोहित रहे। वहीं पक्ष और विपक्ष के बेस्ट स्पीकर की ट्रॉफी स्कॉलर्स प्राइड स्कूल के छात्रों ने जीती। इस मौके पर केएल मेहता वूमेन कॉलेज के चेयरमैन आनंद मेहता, प्रिंसिपल डॉक्टर मंजू दुआ, चंद्र भान आर्य, सुरेखा जैन, सीमा रानी, असिस्टेंट प्रोफेसर विनीता शर्मा, एफपीएससी के सलाहकार बीडी शर्मा टीएस दलाल, वाई के माहेश्वरी, राजदीप सिंह, भारत भूषण आदि शामिल रहे।