फुट ओवरब्रिज हुआ क्षतिग्रस्त::छह शटल ट्रेनें हुई कैंसिल,  हजारों यात्रियों की परेशानी बढ़ी, दो ट्रेनों को किया गया शार्ट टर्मिनेट

फरीदाबाद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को पूरे दिन फुट ओवरब्रिज की मेंटिनेंस में लगे रहे रेलवे कर्मचारी, शाम तक सामान्य नहीं हो पाया था परिचालन। - Dainik Bhaskar
रविवार को पूरे दिन फुट ओवरब्रिज की मेंटिनेंस में लगे रहे रेलवे कर्मचारी, शाम तक सामान्य नहीं हो पाया था परिचालन।

शनिवार देरशाम हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज क्षतिग्रस्त होने के कारण पलवल-नई दिल्ली सेक्शन की छह शटल ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया जबकि दो ट्रेनों को तुगलकाबाद तक शार्ट टर्मिट कर दिया। इससे हजारों दैनिक यात्रियों की परेशानी बढ़ गई। सबसे अधिक परेशानी पलवल और होडल के बीच और असावटी रेलवे स्टेशनों से सफर करने वाले यात्रियों को हुई। ट्रेनों के कैसिंल होने के कारण यात्री रविवार को अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पाए। रेलवे कर्मचारी रविवार पूरे दिन फुट ओवरब्रिज के मंेटिनेंस का कार्य करते रहे लेकिन देरशाम तक ठीक नहीं हो पाया था।

फुटओवर ब्रिज झुकने के कारण रोका गया परिचालन

रेलवे सूत्रों ने बताया कि हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर बना फुट ओवरब्रिज शनिवार देरशाम अचानक बैंड होकर झुक गया। इसके बाद एफओबी से आवागमन बंद कर दिया गया। चूंकि इसका असर प्लेटफार्म नंबर दो, तीन और चार पर पड़ा था। यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने पलवल नई दिल्ली सेक्शन की सात शटल ट्रेनों का परिचालन रविवार को बंद कर दिया। रेलवे इंजीनियरिंग विभाग की टीमें मरम्मत कार्य मंे जुटी रही लेकिन देरशाम तक मेंटिनेंस नहीं हो पाया था।

ट्रेन कैंसिल होने के बाद प्लेटफार्म पर भटकते दैनिक यात्री
ट्रेन कैंसिल होने के बाद प्लेटफार्म पर भटकते दैनिक यात्री

इन ट्रेनों का परिचालन रहा बंद

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से रविवार को 04407 पलवल-गाजियाबाद शटल, 04410 शकूरबस्ती पलवल शटल, 04438 नई दिल्ली पलवल शटल, 04913 पलवल गाजियाबाद शटल, 04920 नई दिल्ली पलवल शटल और 04912 गाजियाबाद पलवल शटल को बंद कर दिया गया था। जबकि 04967 मथुरा नई दिल्ली और 04419 मथुरा गाजियाबाद शटल को तुगलकाबाद स्टेशन पर शार्ट टर्मिनेट किया गया था।

स्टेशन पहुंचने पर हुई ट्रेन कैंसिल की जानकारी

रविवार को जब दैनिक यात्री सुबह पलवल रेलवे स्टेशन ट्रेन पकड़ने पहुंचे तब उन्हें पता चला कि नई दिल्ली की ओर आने जाने वाली सभी लोकल ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है। आखिर में लोग मायूस होकर वापस लौटने को मजबूर हुए।