प्रधानमंत्री से की मांग::आयुष्मान कार्ड बनाने में हो रही धांधली, जांच के लिए उच्चस्तरीय कमेटी का गठन कर की जाए जांच

फरीदाबाद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद एसडीएम को ज्ञापन सौंपते अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत के सदस्य। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद एसडीएम को ज्ञापन सौंपते अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत के सदस्य।

अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत के सदस्यों ने आयुष्मान कार्ड योजना के बारे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए जांच कराने के लिए उच्च स्तरीय केन्द्रीय समिति गठित करने के संबंध में प्रधानमंत्री के नाम संबोधित एक ज्ञापन एसडीएम परमजीत सिंह चहल को सौंपा। उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत भोपाल ने एक आरटीआई लगाई गई थी। जिससे मिली जानकारी से पता चला कि इस योजना में करोड़ों रुपए का घोटाला हो रहा है।

पदाधिकािरयों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर केंद्र सरकार से मांग की है कि इस योजना की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम से पूरे देश में इसकी जांच कराई जाए जाए। मरीजों और परिजनों को उनके बिल एवं इलाज में उपयुक्त उपचार जो बीमारी एवं जांच में उपयोग किया गया है, उसका स्पष्ट ब्यौरा मरीज को उपलब्ध करवाया जाए। साथ में सभी रिकॉर्ड केंद्रीय पोर्टल पर अपलोड किया जाए। आयुष्मान कार्ड योजना के व्यापक दुरुपयोग व घोटालों में लिप्त अस्पताल प्रबंधन सहित भ्रष्ट अधिकारियों कर्मचारियों पर कड़ी कार्रवाई हो। मरीजों से अवैध वसूली का पैसा हॉस्पिटल मालिकों से दुगुना वसूला जाए। फर्जी मरीजों के आयुष्मान कार्ड निरस्त किये जाएं। सभी आयुष्मान से संचालित हॉस्पिटल की ऑडिट रिपोर्ट तैयार कर जांच की जाए। केंद्रीय पोर्टल खोला जाए, जिसमें शिकायतकर्ता को केंद्र की ओर से उसे शिकायत करने पर सही जानकारी व उत्तर प्राप्त होती रहे शिकायत करने के लिए सुलभ प्लेटफार्म उपलब्ध होना चाहिए, जैसे टोल फ्री नंबर, मेल आईडी, ऐप के माध्यम से जो कि केंद्र सरकार के अधीन काम करें आदि। ज्ञापन देने वालों में प्रदीप बंसल राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, अजय भाटिया, आशीष कौशिक, एसपी सिंह आदि मौजूद थे।