जागरुकता::बुजुर्गों को साइबर क्राइम से बचाने  लिए आयोजित की गई कार्यशाला, बचाव के बताए गए उपाय

फरीदाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फरीदाबाद में साइबर ठगों के निशाने पर हैं बुजुर्ग, उन्हें आसानी से अपनी जाल में फंसाने में हो जाते हैं सफल। - Dainik Bhaskar
फरीदाबाद में साइबर ठगों के निशाने पर हैं बुजुर्ग, उन्हें आसानी से अपनी जाल में फंसाने में हो जाते हैं सफल।

आए दिन साइबर ठगी के शिकार होनेवाले बुजुर्गों को बचाने के लिए जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें उन्हें साइबर ठगी से बचने के लिए उपाय बताए गए। सीनियर सिटीजन फोरम द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत बैंकों व वित्तीय संस्थाओं के संयुक्त उद्यम, हार्डिकोन लिमिटेड द्वारा दिया गया। कार्यक्रम में साइबर सुरक्षा, ऑनलाइन सेवाएं तथा मोबाइल एप्स के बारे में विशेष रूप से जानकारी दी गई।

हार्डिकोन लिमिटेड के प्रोजेक्ट हेड एके भटनागर, प्रोजेक्ट को-ऑर्डिनेटर अरुण साहनी एवं अखिल भटनागर ने मोबाइल एप्स द्वारा डॉक्टर का अपॉइंटमेंट, ओला, उबर आदि की बुकिंग तथा अमेजॉन व फ्लिपकार्ट से सामान मंगवाने के बारे में जानकारियां दी। उन्होंने बुजुर्गों के प्रश्नों के उत्तर दिए तथा किसी प्रलोभन भरी काल से बचने की चेतावनी दी। विशेषज्ञों ने कहा कि किसी भी अनजान नंबर से कॉल आने पर ओटीपी न बताएं और ना ही अपना पासवर्ड आदि की निजी जानकारी किसी से शेयर न करें। किसी लिंक पर क्लिक करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें। बता दें कि साइबर ठगों के निशाने पर औद्योगिक नगरी के बुजुर्ग हैं। आंकड़ों की बात करें तो हर दिन आधा दर्जन से अधिक लेाग साइबर ठगी के शिकार हो रहे हैं। इस माैके पर राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर के निजी सचिव डॉ. कौशल बाटला, फोरम के प्रधान डीके बक्शी, बीके खन्ना, एचएन कुमार, वाईएस क्वात्रा, रविंद्र शर्मा, पीएन नागपाल, डीके जैन, जेआर तुतलानी, पीएल बत्रा, आर के शर्मा, ब्रह्म कमल, ललित खन्ना, बीएम कालरा, एसके थापर, जेएस कौशल, वीपी गुप्ता, राजेश अरोड़ा आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...