रोष-प्रदर्शन:बसें न मिलने पर ट्राली, खच्चर रेहड़ी से कॉलेज पहुंची छात्राओं ने प्रबंधन के खिलाफ जताया रोष

टोहाना9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाविद्यालय प्रबंधन ने कहा- चालकों की सुरक्षा की मांग के चलते नहीं भेजी कॉलेज की बसें

श्री दुर्गा महिला महाविद्यालय को सरकार के अधीन किए जाने की स्टाफ सदस्यों व छात्राओं की मांग दिन पर दिन और अधिक उग्र होती जा रही है। महाविद्यालय प्रबंधन द्वारा बस सेवा बंद करने के बावजूद भी पिछले 4 दिन से चल रहे अपने धरने को नियमित करने के लिए ये छात्राएं ईंटों से भरी ट्राली, खच्चर रेहड़ी, टेंपो व थ्री व्हीलर में बैठकर धरना स्थल पर पहुंची। छात्राओं ने महाविद्यालय के बाहर लगाए हुए टेंट के नीचे पहुंचकर फिर से महाविद्यालय को सरकार के अधीन किए जाने की मांग करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी।

छात्राओं ने रतिया रोड स्थित शहीद जोरावर सिंह व शहीद फतेह सिंह स्मारक गेट के नीचे बैठकर करीब 1 घंटे तक जाम भी लगाया। जाम सूचना मिलते ही थाना शहर प्रभारी विनोद कुमार मौके पर पहुंचे तथा उन्हें आश्वासन देकर कि सोमवार से बसें शुरू कर दी जाएंगी, जाम को खुलवाया। छात्राओं ने आरोप लगाया कि महाविद्यालय प्रबंधन द्वारा उन्हें गांव से लाने के लिए बसों को भी बंद कर दिया है लेकिन वे अपने आंदोलन को तब तक समाप्त नहीं करेंगी जब तक की प्रशासन दुर्गा महिला महाविद्यालय को सरकार के अधीन लिए जाने के लिए पुख्ता आश्वासन नहीं देगा। छात्राओं के इस आंदोलन को संयुक्त किसान मोर्चा, राष्ट्रीय मजदूर किसान मंच, आईजी कॉलेज के छात्र संगठन के छात्रों व अन्य संस्थाओं ने भी समर्थन दिया।

खबरें और भी हैं...