अग्रोहा कॉलेज में 200 ऑक्सीजन बेड तैयार:तीसरी लहर के अंदेशे के बीच अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में 200 डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स किए जा रहे ट्रेंड, 92 वेंटिलेटर वर्किंग में

अग्रोहाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड हॉस्पिटल में तैयारियों का जायजा लेते हुए सोसायटी के महासचिव जगदीश मित्तल टीम के साथ। - Dainik Bhaskar
कोविड हॉस्पिटल में तैयारियों का जायजा लेते हुए सोसायटी के महासचिव जगदीश मित्तल टीम के साथ।

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा के डी ब्लॉक में 200 बेड का हॉस्पिटल तैयार किया गया है। कोरोना हॉस्पिटल में गायनी, शिशु विभाग व हृदय रोगियों के लिए अलग से वार्ड हैं, ताकि किसी मरीज को दिक्कतें न हो।

मेडिकल कॉलेज निदेशक डॉ. अलका छाबड़ा ने बताया कि कोरोना से लड़ने के लिए मेडिकल कॉलेज में 200 ऑक्सीजन बेड का कोरोना हॉस्पिटल तैयार हो चुका। हॉस्पिटल के डी ब्लॉक में 248 ऑक्सीजन पॉइंट हैं। इनमें से 100 बेड आईसीयू व 100 नाॅन आईसीयू हैं। कोरोना हॉस्पिटल में कुल 96 वेंटिलेटर लगाए हैं। जिनमें से 92 वर्किंग में हैं व 4 नॉन वर्किंग हैं। जिनके लिए इंजीनियर को बुलाया है। शीघ्र ही ठीक करवाया जाएगा। नोडल अधिकारी डॉ. राजीव चौहान ने बताया कि बच्चों के लिए 60 बेड तैयार किए हैं।

ऑक्सीजन... 10000 लीटर का दूसरा प्लांट जल्द चलेगा

मेडिकल के एडमिन डायरेक्टर डॉ. आशुतोष शर्मा ने बताया कि ऑक्सीजन के लिए 10000 लीटर का एक ऑक्सीजन प्लांट लगा हुआ है। सरकार ने दूसरा 11000 लीटर का ऑक्सीजन प्लांट और भी मंजूर कर दिया है। प्रक्रिया पूरी हो चुकी। अगले सप्ताह तक शुरू हो जाएगा। सरकार की योजना द्वारा पीएसए ऑक्सीजन प्लांट भी लग चुका है।

फ्रंट लाइन तैयार... 200 चिकित्सकों व स्टाफ की ड्यूटी
डॉ. अलका छाबड़ा ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए 200 चिकित्सक व स्टाफ की ड्यूटी लगाई है। जिन्हें कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्राॅन से लड़ने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है। गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से लेबर रूम तैयार किया है। मेडिकल में अभी कोई कोरोना से पीड़ित मरीज भर्ती नहीं है। केवल एक मरीज ब्लैक फंगस से पीड़ित है।

खबरें और भी हैं...