पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दवाइयों की किल्लत:इंजेक्शन की कमी से रोगी परेशान, सिर्फ 2 की हो सकी सर्जरी, अग्रोहा मेडिकल के वार्ड में 80 मरीज दाखिल

अग्रोहा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ब्लैक फंगस को फैलने से रोकने के लिए इंजेक्शन व दवाइयों की भारी किल्लत हो रही है। मरीजों के परिजन एम्फोटरेसिन इंजेक्शन के लिए भटक रहे हैं। मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में भर्ती मरीजों के अभिभावकों ने बताया कि 15 दिनों तक तो मेडिकल में मैग्नोफेशियल सर्जन नहीं था।

बाद में स्वास्थ्य विभाग ने मैग्नोफेशियल सर्जन डॉ. बंसीलाल बेनीवाल, डाॅ. कनुप्रिया, सहायक सतेंदर चौधरी को डेपुटेशन पर भेजा। जिससे मरीजों ने राहत की सांस ली। एक जून से मैग्नोफेशियल सर्जन ने जबड़े की सर्जरी शुरू कर दी थी। लेकिन अभी 3 दिनों से इंजेक्शन न मिलने के कारण बड़ी चुनौती खड़ी हो गई। इंजेक्शन के अभाव में मरीज व अभिभावक परेशान हैं।

ब्लैक फंगस वार्ड प्रभारी डॉ. प्रवीण रेवड़ी ने बताया कि अभी तक कॉलेज में ब्लैक फंगस से पीड़ित 196 मरीज भर्ती हो चुके हैं। रविवार को 80 मरीज भर्ती हैं। अब तक 44 की मौत हो चुकी है। 84 मरीजों की सर्जरी की जा चुकी है। जिनमें से 72 सर्जरी नाक की हुई है। जबड़े की 7 सर्जरी हो चुकी है।

रविवार को जबड़े की 2 सर्जरी हुई। 7 मरीजों की आई में इंजेक्शन दिया गया। निदेशक डॉ. गीतिका दुग्गल ने बताया कि दो दिनों से इंजेक्शन नहीं आए। जिसके कारण मरीजों को दिक्कतें आ रही हैं। डिमांड भेजी जा रही है।

खबरें और भी हैं...