जागरूकता:स्वच्छता बिना निरोग जीवन की कल्पना बेकार: राठी

बाढड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते एसडीएम शंभू राठी। - Dainik Bhaskar
जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते एसडीएम शंभू राठी।
  • आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत स्वच्छता एवं पर्यावरण सरंक्षण रथ शुरू

स्वच्छता व पर्यावरण सरंक्षण के बगैर मानव जीवन की कल्पना करना ही बेकार है। प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में सबसे पहले स्वच्छता व फिर पर्यावरण सरंक्षण में पहल करते हुए पेड़ पौधों की रक्षा करनी चाहिए। अमृत महोत्सव कार्यक्रम के माध्यम से हमें जन जन तक समर्पण भावना से मुलभूत संसाधनों का संरक्षण करना चाहिए।

यह बात एसडीएम शंभु राठी ने शहीद भगतसिंह जयंती पर संचालित अमृत महोत्सव कार्यक्रम के शुभारंभ में कस्बे के उपमंडल कार्यालय में स्वच्छता व पर्यावरण सरंक्षण जागरुकता रथ को रवाना करते हुए कही। इस अवसर पर एसडीएम शंभु राठी की अगुवाई में शहीद भगतसिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनको नमन करते हुए उनकी स्मृति में पौधरोपण किया। उन्हाेंने कहा कि शहीद भगतसिंह ने अपनी युवावस्था में ही प्राणों की कुर्बानी कर अब तक का सबसे बड़ा बलिदान देकर आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणा देने का काम किया है। अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत यह जागरुकता रथ गांव- गांव जाकर लोगों को अपने जीवन में स्वच्छता मिशन आरंभ करने व ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण करते हुए शुद्ध एवं स्वच्छ हवा का प्रयोग करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इसके बारे में हमें ज्यादा कोरोना काल में देखने को मिला जिससे लोगों में ऑक्सीजन की कमी देखने को मिली। इस लिए हमें अपने आस पास के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यहां के ज्यादा लोगों गांव में रहते हैं इसलिए हम आस पास के गांव में स्वच्छता अभियान चलाया जाना चाहिए। क्योंकि आने वाले दस वर्षों में गांवों की जनसंख्या अधिक हो जाएगी तब इस लिए अभी से ही सफाई अभियान चलाना चाहिए ताकि आगे चलकर परेशानियां ना आए। वही हमें पॉलीथिन का प्रयोग कम से कम करना चाहिए। इस मौके पर एसईपीओ अशोक कुमार, कोर्डिनेटर सविता, सरपंच राकेश, मा. शमशेर सिंह, सुभाष, सुमित कुमार, शक्ति पहलवान, अजीत आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...