पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रतिभा:दिव्यांग प्रीमियर लीग में खेलेंगे नंगल ढाणी के रविंद्र

बलियाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव नंगल ढाणी निवासी दिव्यांग क्रिकेट खिलाड़ी रविंद्रपाल कंबोज। - Dainik Bhaskar
गांव नंगल ढाणी निवासी दिव्यांग क्रिकेट खिलाड़ी रविंद्रपाल कंबोज।
  • विभिन्न राज्यों के 90 खिलाड़ी लेंगे लीग में भाग, 8 से 15 अप्रैल तक हाेंगे मुकाबले, 6 टीमें लेंगी भाग

दिव्यांग क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा आईपीएल की तर्ज पर 8 से 15 अप्रैल तक करवाए जा रहे दिव्यांग प्रीमियर लीग (डीपीएल) क्रिकेट टूर्नामेंट में गांव नंगल ढाणी के दिव्यांग खिलाड़ी रविंद्र पाल कंबोज भी खेलेंगे। इस टूर्नामेंट में विभिन्न राज्यों के 90 खिलाडिय़ों की 6 टीमें चेन्नई सुपर स्टार, दिल्ली चेलैंजर, कोलकाता नाइट फाइटर्स, मुंबई आइडियल, गुजरात हिटर्स व राजस्थान राजवाड़ा खेलेंगी।

खिलाड़ी रविंद्र पाल कंबोज ने बताया कि वे दिल्ली चेलेंजर टीम में खेलेंगे। उन्होंने बताया कि टूर्नामेंट में रोबिन राउंड लीग के आधार पर सभी टीमें एक-दूसरे के साथ मैच खेलेंगी। रविंद्र पाल ने बताया कि प्रथम दिन 8 अप्रैल को एक मैच खेला जाएगा। 10 से 13 अप्रैल तक रोजाना तीन मैच खेले जाएंगे। 14 अप्रैल को दो व 15 अप्रैल को फाइनल मुकाबला होगा।

कप्तान के तौर पर भी खेल चुके हैं रविंद्र पाल

गांव नंगल ढाणी निवासी दिव्यांग क्रिकेट खिलाड़ी रविंद्र पाल कंबोज भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम में कप्तान के तौर पर श्रीलंका, मलेशिया, सिंगापुर, थाइलेंड, दुबई, बांग्लादेश, ओमान, पाकिस्तान आदि देशों में खेल चुका हैं। वर्ष 2000 में चारा काटने वाली मशीन में आने से उसका बाया हाथ कट गया।

लेकिन रविंद्र पाल धीरे-धीरे गांव स्तर की क्रिकेट प्रतियोगिताओं में खेलते-खेलते चंडीगढ़ की विकलांग क्रिकेट टीम में शामिल हो गये। इस टीम में रहते हुए उसने रांची, लखनऊ, आनंतपुरा, बड़ौदा, दिल्ली, सहित कई जगहों पर राष्ट्रीय स्तर के मैच खेले। इसके अलावा रविंद्र पाल दिल्ली रॉयल, हरियाणा राज्य विकलांग क्रिकेट टीम के अलावा आईपीएल की टीम किंग्स इलेवन पंजाब में सहयोगी प्लेयर के रुप में शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें