पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

घर वापसी:श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 14 सौ किमी. के सफर पर निकले 1466 प्रवासी, बोले- मजबूरी में जा रहे हैं, लौटेंगे जरूर

भिवानी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 22 घंटे का सफर पूरा कर आज बिहार के कटिहार पहुंचेंगे, रवाना करने से पहले मेडिकल किया और खाना खिलाया
  • फूल बरसा कर विदाई, भिवानी सहित चरखी दादरी और हिसार के श्रमिक परिवारों को भेजा गया बिहार

प्रवासी श्रमिकों को उनके राज्य में पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से श्रमिक स्पेशल ट्रेन व रोडवेज बसें चलाई जा रही हैं। इसी कड़ी में भिवानी से बिहार के कटिहार के लिए शुक्रवार को ट्रेन से भिवानी, चरखी दादरी व हिसार जिले के 1466 प्रवासियों को दाेपहर बाद तीन बजे रवाना किया गया। भिवानी जंक्शन के प्लेटफॉर्म नंबर एक से गाड़ी संख्या 04869 कटिहार के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना हुई। ट्रेन में लगभग भिवानी से 750, चरखी दादरी से 250, हिसार से 318 और हांसी के 148 प्रवासी श्रमिक सवार हुए।  भिवानी से कटिहार की कुल दूरी 1408 किलोमीटर है जबकि प्रति टिकट किराया 630 रुपये है। यह ट्रेन लगभग 22 घंटे का सफर पूरा कर शनिवार को बिहार के कटिहार पहुंचेगी। स्टेशन के मुख्य द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग की गई। कोविड-19 के नोडल ऑफिसर डॉ. राजेश कुमार अपनी टीम के साथ रेलवे स्टेशन पर मौजूद रहे। प्रवासी श्रमिकों को भिवानी के एडीसी डॉ. मनोज कुमार, दादरी के एडीसी मो. इमरान रजा, एसीयूटी सचिन गुप्ता, भिवानी एसडीएम महेश कुमार व बाढड़ा एसडीएम प्रीतपाल ने प्रवासी श्रमिकों को गाड़ी में सवार करवाया। चरखी दादरी के डीसी शिव प्रसाद व एसपी बलवान सिंह राणा, डीएसपी बीरेंद्र सिंह, स्टेशन अधीक्षक जीके गुप्ता, आरपीएफ निरीक्षक उषा निरंकारी व अन्य अधिकारियों ने पुष्प वर्षा के साथ श्रमिकों को रवाना करवाया। स्पेशल श्रमिक ट्रेन में सवार होने के दौरान प्रवासी श्रमिक खुश नजर आए। मधेपुरा निवासी कंचन ने बताया कि वे अपने पति मुकेश के साथ बैंक कॉलोनी में रह रही थी। वे यहां पर एक फैक्ट्री में काम कर रहे थे, लेकिन लॉकडाउन होने के कारण वे अपने घर जा रहे हैं। लेकिन काम मिला तो जरूर वापस आएंगे। पूर्णिया निवासी रिंकू देवी ने बताया कि वे दादरी क्षेत्र में काम करते थे। वे अब मजबूरी में ही घर जा रहे हैं। सरकार ने बहुत अच्छा किया उनका सफर का किराया भी नहीं लगा। सरकार की जितनी तारीफ करें, कम है साहब। 

 सरकार से मिली मदद को सराहा, बोले- किराया माफ कर अच्छा किया

स्पेशल श्रमिक ट्रेन में सवार होने के दौरान प्रवासी श्रमिक खुश नजर आए। मधेपुरा निवासी कंचन ने बताया कि वे अपने पति मुकेश के साथ बैंक कॉलोनी में रह रही थी। वे यहां पर एक फैक्ट्री में काम कर रहे थे, लेकिन लॉकडाउन होने के कारण वे अपने घर जा रहे हैं। लेकिन काम मिला तो जरूर वापस आएंगे। पूर्णिया निवासी रिंकू देवी ने बताया कि वे दादरी क्षेत्र में काम करते थे। वे अब मजबूरी में ही घर जा रहे हैं। सरकार ने बहुत अच्छा किया उनका सफर का किराया भी नहीं लगा। सरकार की जितनी तारीफ करें, कम है साहब। 

टिकटों पर हरियाणा गवर्नमेंट की लगाई मोहर 

प्रत्येक यात्री की टिकटों पर पेड बॉय हरियाणा गवर्नमेंट की मोहर लगाई यानि प्रवासी मजदूरों के सफर का खर्च हरियाणा सरकार ने वहन किया है। प्रत्येक यात्री को सोशल डिस्टेंस के साथ बैठाया गया। यात्रियों ने भी प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों की पालना की और सोशल डिस्टेंस बनाए रखा। जिला सांख्यिकीय अधिकारी शिवतेज व लेखाधिकारी विकास यशकीर्ति के नेतृत्व में उनकी टीम ने टिकट पर हरियाणा सरकार की मोहर लगाने व टिकट मुहैया करवाने का काम किया। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें