हेल्थ अलर्ट टिप्स:19 टीमें शहर में 139 गांवाें में चलाएंगी अभियान, दूसरी डाेज लगवाने नहीं पहुंचे पांच लाख लाेग

भिवानी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य विभाग अब डाेर-टू-डाेर लगाएगा वैक्सीन

काेविड से बचाव काे लेकर स्वास्थ्य विभाग अब डाेर-टू-डाेर वैक्सीन टीकाकरण अभियान शुरू करेगा। इसके लिए विभाग ने 158 टीमें गठित की गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें जहां लाेगाें काे टीकाकरण की जानकारी देगी वहीं पहली या दूसरी डाेज से वंचित लाेगाें काे वैक्सीन दी जाएगी।

कोविड से बचाव को लेकर 100 प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य काे हासिल करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। हर घर दस्तक टीकाकरण अभियान के तहत टीकाकरण को और अधिक तेज गति प्रदान की जाएगी। एनएचएम की टीमें नागरिकों का शत-प्रतिशत टीकाकरण करने के लिए हर घर पर दस्तक देगी। जिन लोगों ने टीकाकरण नहीं करवाया है, उनका कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लगाई जाएगी।

जिले में ये है वैक्सीन की स्थिति

श्रेणी पहली दूसरी प्रतिशत { हेल्थ केयर वर्कर्स 5647 5378 97 { फ्रेंड लाइन वर्कर्स 5131 4823 94 { 18 से 44 वर्ष 449352 113949 21 { 45 से 60 वर्ष 152494 77037 43 { 60 से अधिक आयु वर्ग 116816 78131 64

शिक्षण संस्थाओं में चलेगा अभियान

सिविल सर्जन डॉ. शांडिल्य ने बताया कि स्कूल, कॉलेज व सरकारी संस्थानों में 100 प्रतिशत टीकाकरण अभियान को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से सभी विभागाध्यक्षों व शिक्षण संस्थाओं को निर्देश दिए जा चुके हैं। अब एक बार फिर से उनसे जानकारी ली जाएगी कि 18 वर्ष से ऊपर से कितने विद्यार्थियों और सरकारी कार्यालयों में कितने कर्मचारियों काे दोनों डोज का वैक्सीनेशन हो चुका है। जिनकाे वैक्सीन नहीं लगी है उनकाे भी वैक्सीन लगाई जाएगी।

जानें...क्या हाे सकता है कारण

{ वैक्सीन की पहली डाेज लगवाने के बाद दूसरी डाेज लगवाने लगभग पांच लाेग वैक्सीन सेंटराें पर नहीं पहुंचे। क्याेंकि कुछ लाेग जब बारी आने पर दूसरी डाेज लगवाने केंद्राें पर पहुंचे थे ताे उन्हें केंद्र पर वैक्सीन उपलब्ध नहीं हाे पाई थी। जिसके कारण व दूसरी डाेज से वंचित रह गए। { जिले काे काेराेना संक्रमण बेहद कम हुआ ताे शायद कुछ लाेग दूसरी वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंचे। { जिले में काेविड के नए मरीज मिलने बंद हुए ताे लाेगाें ने शायद समझ लिया कि अब काेविड का खतरा नहीं रहा। इस कारण से भी शायद लाेग अभी तक दूसरी डाेज से बच रहे हैं। { लेकिन सीएमओ डाॅ. रघुबीर सिंह शांडिल्य ने बताया कि पहली डाेज के बाद 45 प्रतिशत तक ही व्यक्ति काेविड से सुरक्षित है। जबकि दाेनाें डाेज लगवाने के बाद ही व्यक्ति काेविड से पूरी तरह से सुरक्षित रह सकता है।

158 टीमों का किया गठन

सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य ने बताया कि जिला में हर घर दस्तक टीकाकरण अभियान के तहत कुल 158 टीमों का गठन किया गया है, जिनमें 139 टीमें ग्रामीण क्षेत्र के लिए तथा 19 टीमें शहरी क्षेत्र के लिए गठित की गई हैं। जिला में सामान्य अस्पताल के वार रूम के अलावा सीएचसी व उप स्वास्थ्य केद्रों पर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। नागरिक स्वास्थ्य सेंटरों पर भी टीकाकरण करवा सकते हैं।

जानिए...क्यों दिया सरकार ने आदेश

जिले में अभी तक लगभग साढ़े 10 लाख लाेग पहली, दूसरी या दाेनाें डाेज लगवा चुके है। हालांकि इनमें से लगभग तीन लाख लाेगाें ने दाेनाें डाेज लगवाई है। जबकि 5 लाख लाेग ऐसे हैं जिन्होंने पहली डाेज लगवाने के बाद दूसरी डाेज नहीं लगवाई। इसलिए सरकार के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन टीकाकरण के लिए डाेर-टू-डाेर अभियान शुरू किया है।

खबरें और भी हैं...