पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महापंचायत:सांसद धर्मबीर को किसान आंदोलन के समर्थन के लिए 72 घंटे का अल्टीमेटम, ताेशाम व बारवास लाड में नेताओंं का बहिष्कार

तोशाम/ लाेहारू3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तोशाम में आयोजित महापंचायत को संबोधित करते युवा कल्याण संगठन के संरक्षक कमल प्रधान। - Dainik Bhaskar
तोशाम में आयोजित महापंचायत को संबोधित करते युवा कल्याण संगठन के संरक्षक कमल प्रधान।
  • सत्तारूढ़ दलों के खिलाफ किसानों में बढ़ रही नाराजगी, तोशाम और लोहारू में पंचायत कर लिए कई फैसले

तोशाम व लोहारू के किसानों ने शनिवार को अलग अलग जगह पंचायत कर भाजपा व जजपा नेताओं के बहिष्कार का फैसला लिया। इतना ही नहीं तोशाम महापंचायत ने तो सांसद धर्मबीर सिंह को 72 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि उन्होंने अगर धरना स्थल पर आकर किसानों का समर्थन नहीं दिया तो वे उसका पुतला फूकेंगे। गौरतलब है कि धर्मबीर ने राजनीति की शुरुआत तोशाम से ही की थी।

किसान आंदोलन को लेकर तोशाम अनाज मंडी एक महापंचायत हुई। महापंचायत की अध्यक्षता चन्द्र पंघाल ने की। महापंचायत में किसानों ने एकमत से कहा कि वे भाजपा व जजपा नेताओं का बहिष्कार करेंगे। इसके साथ साथ उन्होंने सांसद धर्मबीर सिंह को भी आगाह करते हुए कहा कि वे किसानों के धरने का समर्थन करें तथा बार्डर पर जो गुंडे किसानों के साथ बदतमीजी कर रहे हैं, उसे रोके नहीं तो उनका पुतला फूंका जाएगा।

इसके लिए महापंचायत में उन्हें 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। किसानों ने अनाज मंडी में अपना कार्यालय स्थापित किया जहां हर रोज धरना स्थल पर किसानों का जत्था राहत सामग्री लेकर रवाना होगा। तोशाम के किसान राजेश लक्ष्मणपुरा द्वारा बहादुरगढ़ के पास एक लंगर स्थापित किया जाएगा। आंदोलन को लेकर एक कमेटी का गठन किया जाएगा। महापंचायत को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट रहा वहीं नायब तहसीलदार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी नियुक्त किया गया।

महापंचायत को संबोधित करते हुए युवा कल्याण संगठन के संरक्षक कमल प्रधान ने कहा कि हर किसान अपने घर की छत पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराए जिसके कारण सरकार झुकने पर मजबूर हो जाए। प्रधान ने अपील करते हुए कहा कि आंदोलन में जोश के साथ होश भी रखना है। आंदोलन शांति प्रिय रखने की अपील की। किसान रमेश ने कहा कि किसान जब तक धरने पर बैठे रहेंगे तब तक ये कृषि के काले कानून वापस नहीं लिए जाते।

डॉक्टर देवेन्द्र बलहारा युवा किसानों को शांति बनाए रखने की देंगे ट्रेनिंग

डॉक्टर देवेन्द्र बलहारा आंदोलन में शांति प्रिय ठंग से चलाने के लिए युवा किसानों को तोशाम अनाज मंडी में प्रशिक्षण देंगे। बलहारा युवा किसानों को बताएंगे की अगर आंदोलन को लेकर सरकार किसानों के साथ छोटे हथकंडे अपनाती है तो भी कुछ नहीं करना है। बलहारा युवा किसानों को प्रेरित करेंगे की गांव गांव जाकर कैसे किसानों को जागरूक करना है। महापंचायत को पूर्व कमिश्नर युद्धवीर ख्यालिया ने भी संबोधित किया।

महापंचायत में बार एसोसिएशन प्रधान राकेश नेहरा, रमेश टमाटर वाला, मनेंद्र पंघाल, संदीप सिंह सरपंच, पूर्व सरपंच सुखबीर पंघाल, नरेंद्र वर्मा, धर्मबीर सिंह सरल, सुखबीर चेयरमैन, सुनील पटवारी, हवासिंह पहलवान, कुलदीप सरपंच, कर्ण सिंह जैनावास, सज्जन संडवा, सत्यवान कुहाड़, सुरेश पिलानियां, संदीप आलमपुर, भागू पंघाल, मंगल खरेटा, जेपी हसान, जयपाल जागलान, बल्लू आलपुरिया व रमेश खरकड़ी आदि मौजूद थे।

सत्तारूढ़ दलों के नेताओं को नहीं घुसने देंगे गांव में

लोहारू| तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर चल रहे धरनों पर किसानों की भीड़ तीन दिन से बढ़ने लगी है। बारवास लाड के संयुक्त धरने पर किसानों ने भाजपा ओर जजपा नेताओं का पूरी तरह से बहिष्कार करते हुए गांवों में नहीं घुसने देने का निर्णय ले लिया है। शनिवार को बारवास धरने को भागीरथ बारवास, सुमित श्योराण, सुरेन्द्र झाझड़िया, गोपीराम बारवास, महराम लाड, सूरजभान लाड, ईश्वरसिंह लाड, जागेराम सरपंच खेड़ा, राकेश बारवास, वेदप्रकाश ढाणी व कर्मबीर बारवास सहित अनेक वक्ताओं ने धरने को संबोधित किया।

किसानों ने कहा कि जेजेपी नेताओं व बीजेपी नेताओं को गांवों में नहीं घुसने दिया जाएगा। नकीपुर गांव के धरने पर अनेक गांवों के किसानों ने पहुंचकर अपना समर्थन दिया है। शनिवार को बुढ़ेड़ी, ढाणा जोगी, पहाड़ी, पाजू सहित कई गांवों के सैकड़ों किसानों ने पहुंच कर अपना समर्थन दिया है।

किसान अपने साथ ही धरनों पर दूध ओर खाने का सामान लेकर पहुंच रहे हैं। नकीपुर के धरने पर पूर्व सरपंच भीम सिंह पहाड़ी, पूर्व चेयरमैन मुंशीराम बुढेड़ी, फूलसिंह मलिक ढाणा जोगी, ओमप्रकाश नंबरदार, सुरेश शर्मा नकीपुर, नरेन्द्र नकीपुर, रामपाल वर्मा नकीपुर, प्रताप बुगालिया नकीपुर, शीशराम वर्मा पहाड़ी, हवासिंह सरपंच, देवेन्द्र नकीपुर, करतारसिंह, सुरेन्द्र वर्मा नकीपुर, ताराचंद बुगालिया, कालूराम सरपंच व सत्यनारायण पायल ने अपना समर्थन दिया।

महापंचायत में बनाई कमेटी

महापंचायत में बनाई गई कमेटी हर गांवों में जाकर किसान आंदोलन के ये किसानों को जागरूक करेगी ताकि हर किसान आंदोलन में शांतिपूर्ण तरीके से भाग ले सके। कमेटी द्वारा गांवों में भी एक कमेटी बनाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें