पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:कृषि से जुड़े तीनों कानूनों के विरोध में अभाकिस ने किया प्रदर्शन

भिवानी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तीन कृषि कानूनों के विरोध में सांसद के आवास का घेराव करने जा रहे किसान सभा के सदस्यों को पुलिस ने रास्ते में ही महम रोड स्थित बड़ चौक पर रोक लिया। किसान सड़क के बीच ही बैठ गए और नारेबाजी करने लगे। इस दौरान किसान संगठन के पदाधिकारियों ने दो टूक शब्दों में कहा कि जब तक तीनों कानूनों को रद्द नहीं किया जाएगा आंदोलन जारी रहेगा। लगभग आधा घंटे बाद किसान वापस लौट गए। इससे पहले अखिल भारतीय किसान सभा के सदस्यों ने शहर में प्रदर्शन किया और अनाज मंडी में मार्केट कमेटी सचिव के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपकर तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग की गई।

तय कार्यक्रम के तहत बुधवार को अखिल भारतीय किसान सभा की अनाज मंडी में बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता प्रधान करतार ग्रेवाल व आढ़ती एसोसिएशन के पदाधिकारी योगेंद्र वोहरा ने संयुक्त रूप से की। बैठक के बाद किसान सभा के सदस्य सांसद धर्मबीर सिंह के विद्यानगर स्थित आवास के घेराव के लिए अनाज मंडी से नारेबाजी करते हुए जीतूवाला जोहड़ क्षेत्र से कृष्णा कॉलोनी, घंटाघर, हांसी गेट होते हुए चिड़ियाघर रोड के रास्ते महम रोड स्थित बड़ चौक के पास पहुंचे।

जहां पहले से बैरिकेड लगाकर मौजूद भारी पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों को सांसद आवास से लगभग 200 मीटर पहले ही रोक लिया और आगे नहीं जाने दिया गया। किसान सभा के सदस्य वहीं सड़क के बीच बैठ गए और नारेबाजी की। दयानंद पूनिया व मा. शेर सिंह आदि ने कहा कि अन्नदाता केवल अपनी रोजी रोटी और मुनाफे के लिए ही खेती नहीं करता है बल्कि कृषि उत्पाद पैदावार कर देश का पेट भरता है। अन्नदाता को बचाने व उसके संकटों को दूर करने की बजाए सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट रही हैं।

हाल ही बनाए गए कृषि से जुड़े तीनों कानून किसान विरोधी है। इसलिए तुरंत प्रभाव से तीनों कानूनों को रद्द किया जाए। लगभग 30 मिनट तक भिवानी-महम रोड जाम रहा। इसके कारण महम की तरफ से आने वाले वाहन गोशाला मोड से भगत सिंह चौक होते हुए सरकुलर रोड तक पहुंचे और भिवानी की तरफ से जाने वाले वाहन चिड़ियाघर मोड से भगत सिंह चौक होते हुए महम रोड तक पहुंचे।

ये कहा किसान नेताओं ने

किसान नेता दयानंद पूनिया, मा. शेर सिंह, कामरेड ओमप्रकाश, विजय ने कहा कि ऑनलाइन पोर्टल व खरीद पर शर्त लगा किसानों को परेशान किया जा रहा है। उन्होंने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, सभी कृषि उत्पादों की खरीद फार्मूला के हिसाब से लागू करने, सभी कृषि उत्पादों की सरकारी खरीद करते हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य दिए जाने, फसलों की खरीद में लगाई गई ऑनलाइन, पोर्टल की शर्त वापस लेने, किसान की पूरी फसल की खरीद करने, किसान व मजदूरों को कर्ज मुक्त करने की मांग की। इस मौके पर करण सिंह जैनावास, राजेश कुुंगड़, मा. रघबीर भेरा, छोटूराम पूनिया, सूबेदार धनपत सिंह, सूबेदार शीशराम, कृष्ण फौजी, सरोज, बिमला घनघस, ओम प्रकाश दलाल घुसकानी, फूलचंद, क्रांतिपाल, छाजुराम, मेहर सिंह धनाना आदि किसान सभा के सदस्य मौजूद थे। बैठक का संचालन डाॅ. बलबीर ठाकन ने किया।

खबरें और भी हैं...