पुलिस ने लिया हिरासत में:लोहारू में किसानों की गिरफ्तारी के विराेध में तीन जगह लगाया जाम, रिहाई के बाद खाेला

भिवानी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मांगाें काे लेकर भिवानी-हांसी मार्ग को जाम कर सड़क पर बैठे गांव प्रेमनगर के किसान। - Dainik Bhaskar
मांगाें काे लेकर भिवानी-हांसी मार्ग को जाम कर सड़क पर बैठे गांव प्रेमनगर के किसान।
  • कृषि मंत्री का विराेध किया ताे पुलिस ने 30 प्रदर्शनकारी किसानाें काे लिया हिरासत में

दाे दिन से अाक्राेशित किसान कृषि मंत्री जेपी दलाल के कार्यक्रमाें में पहुंचने का विरोध कर रहे हैं। गुरुवार काे किसानाें ने लाेहारू क्षेत्र में मंत्री का विराेध किया ताे पुलिस ने लगभग 30 प्रदर्शनकारी किसानाें काे हिरासत में ले लिया। इस की सूचना मिलते ही किसानाें ने दादरी-भिवानी हाईवे, भिवानी-हिसार व भिवानी-जींद मार्ग काे जाम कर दिया।

किसानाें की रिहाई के बाद ही सड़क से अवराेधक हटाए गए।जैसे ही सुबह लगभग दस बजे किसानाें काे सूचना मिली कि लाेहारू क्षेत्र में कृषि मंत्री का विराेध कर रहे किसानाें काे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है ताे किसानाें ने कितलाना टाेल प्लाजा, गांव धनाना व गांव प्रेमनगर के पास मुख्य सड़क मार्गाें पर अवराेधक डालकर जाम लगा दिया और सरकार के खिलाफ राेष जताया। इसके कारण सड़क मार्गाें पर वाहनाें की लाइनें लग गई।

तोशाम: किसानों की गिरफ्तारी के विरोध में किसानों ने ईशरवाल में तोशाम ईशरवाल मार्ग पर जाम लगा दिया। किसानों ने एक घंटे तक मार्ग जाम रखा। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा ईशरवाल में तीन कृषि कानूनों को लेकर सुबह पहाड़ी में कृषि मंत्री के विरोध कर रहे थे। इस को लेकर पुलिस ने किसानों को गिरफ्तार कर लिया था।

इसके विरोध में ईशरवाल में किसानों ने रोड जाम कर दिया और किसानों की रिहाई की मांग की। किसानों ने कहा कि सरकार जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नहीं करती, किसानों का धरना जारी रहेगा और भाजपा के नेताओं का बहिष्कार भी जारी रहेगा। इस अवसर पर कर्णसिंह जैनावास, अनिल सांगवान भेरा, वेदपाल, रामफल, महेंद्र, सुरेश, बिल्लू, धूप सिंह सहित अनेक किसान मौजूद थे।

यहां-यहां बनी रही जाम की स्थिति

{संयुक्त किसान माेर्चा के आह्वान पर तीन कृषि कानूनाें के विराेध में कितलाना टाेल पर चल रहे धरने पर किसानाें काे हिरासत में लिए जाने का समाचार मिला ताे धरने पर बैठे किसानाें ने टाेल के पास ही भिवानी-दादरी हाईवे मार्ग काे जाम कर दिया। दाेपहर लगभग साढ़े 12 बजे किसानाें काे जब सूचना मिली कि हिरासत में लिए किसानाें काे पुलिस ने रिहा कर दिया है कि किसानाें ने सड़क से अवराेधक हटाए और इसके बाद यहां से यातायात व्यवस्था बहाल हाे पाई। जाम के कारण भिवानी-दादरी मार्ग पर लगभग डेढ़ घंटे तक जाम लगा रहा।

{ किसानाें काे हिरासत में लेने की सूचना पर गांव धनाना के ग्रामीणाें ने भी जाम लगा दिया। ग्रामीणाें ने गांव के पास ही भिवानी-जींद मार्ग काे जाम कर दिया। िकसानाें ने वाहनाें काे अागे नहीं जाने दिया। दाेपहर एक बजे ग्रामीणाें काे सूचना मिली कि किसानाें काे छाेड़ दिया गया है ताे किसानाें ने मार्ग काे बहाल कर दिया।

{इसी तरह से गांव प्रेमनगर के ग्रामीणाें ने भिवानी-हिसार मार्ग काे जाम कर दिया। किसानाें ने दस बजे मार्ग जाम किया और किसानाें की रिहाई के बाद दाेपहर साढ़े 12 बजे मार्ग खाेला। किसानाें द्वारा तीन स्थानाें पर जाम लगाने के कारण तीन मार्गाें पर डेढ़ से दाे घंटे तक ट्रैफिक व्यवस्था बाधित रही। किसान सुरेश, राममेहर सिंह, बिजेन्द्र कुमार, सुरेश, एडवोकेट संदीप मल्हान, राजेश बूरा आदि किसानों ने कहा कि जब तक मांगें पूरी नहीं हाेगी आंदाेलन जारी रहेगा।

खबरें और भी हैं...