पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अच्छी खबर:तोशाम ओवरब्रिज के पास संचालित बाल सेवा आश्रम 45 साल में करवा चुका 150 से अधिक कन्याओं का विवाह

भिवानी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाल सेवा आश्रम में रह रही कन्या की रविवार को हुई गोद भराई कार्यक्रम में मौजूद नागरिक। - Dainik Bhaskar
बाल सेवा आश्रम में रह रही कन्या की रविवार को हुई गोद भराई कार्यक्रम में मौजूद नागरिक।
  • बाल सेवा आश्रम 28 काे करेगा 5 कन्याओं की शादी, गोदभराई की

मेहंदी सजेगी, हल्दी लगेगी। शहनाई गूंजेगी, डोली उठेगी। यह सब कुछ होगा उन पांच कन्याओं के विवाह में जिनके माता-पिता या परिजन नहीं है। तोशाम ओवरब्रिज के समीप संचालित बाल सेवा आश्रम में रहने वाली 5 कन्याएं 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुकी हैं। इनके विवाह की तैयारी जोर-शोर से शुरू हो गई है। रविवार को गोद भराई की रस्म हिंदू रीति रिवाज से पूरी की गई।

वर्ष 1899 में लाला लाजपत राय के हाथों स्थापित बाल सेवा आश्रम में निवास करने रही बालिकाओं को वयस्क होने के पश्चात उनके लिए सुयोग्य वर की तलाश कर गुण कर्म व स्वभाव के आधार पर विवाह निश्चित किया जाता हैं। यहां रहने वाली सभी लड़कियों का व्यस्क होने यानि की 18 साल की होने के बाद विवाह किया जाता है। अब तक आश्रम द्वारा 45 वर्ष में 150 से अधिक कन्याओं का विवाह करवा चुका है। रविवार को एक सादे समारोह में पांच कन्याओं की गोद भराई कार्यक्रम किया गया। इन बेटियों की शादी 28 जनवरी को लाला लाजपतराय जयंती के अवसर पर की जाएगी।

150 आवेदनों में ढूंढ़े गए दूल्हे

कन्याओं के विवाह के लिए दूल्हों का चयन लंबी प्रक्रिया के बाद हुआ है। करीब 150 परिवारों ने इन कन्याओं से विवाह के आवेदन भेजे थे। इनमें से विभिन्न स्तरों पर छंटाई व आवेदनों में दर्ज संपत्ति व परिवार से जुड़ी जानकारियों के बाद दूल्हों का चयन किया गया है।

साक्षात्कार व जांच के बाद चुना जाता है वर

बाल सेवा आश्रम के सचिव वेदप्रिय आर्य ने बताया कि कन्याओं के विवाह के लिए सुयोग्य वर की तलाश की जाती है। विवाह पूर्व वर के परिवार, उनकी आय, सम्पत्ति इत्यादि की गहनता से जांच की जाती हैं। इतना ही नहीं दूल्हा का साक्षात्कार भी लिया जाता है व कन्या से पूछा जाता है कि यह वर आपके लिए है। बेटी की हां के बाद ही शादी तय की जाती है। आज जिन बेटियों की गोद भराई पूरी की गई है में भी बेटियों से पहले अच्छी तरह से पूछा गया था तथा वरों की अच्छी तरह से जांच पड़ताल की गई थी। पूरी तरह से संतुष्ट होने के बाद गठित कमेटी शादी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाती है। आश्रम के प्रधान वेदप्रकाश आर्य ने बताया कि जिन 5 बालिकाओं का विवाह निश्चित किया गया है उनकी विदाई की तैयारियां पूर्ण हो चुकी है। विदाई भी ऐसी-वैसी नहीं, बल्कि धूमधाम से विवाह समारोह के साथ की जाएगी। मतलब शादी से पहले मंगल गीत गूंजेंगे। हल्दी, मेंहदी भी लगेगी। दूल्हा बारात लेकर आएगा और दुल्हन को डोली में बिठाकर ससुराल ले जाएगा।

उपहार स्वरूप दिया जाएगा ये सामान

  • विवाह बंधन में बंधने जा रही ये कन्याएं भले ही बाल आश्रम में रह रही हैं, लेकिन उन्हें किसी कमी का अहसास नहीं होगा। विवाह के बाद कन्याओं को घर-गृहस्थी के सभी सामान भी दिए जाएंगे। डबल बैड, टीवी, फ्रिज, रसोई गैस, कूलर, अलमारी, कपड़ा, बर्तन और यहां तक कि सोने-चांदी के आभूषण भी भेंट में दिए जाएंगे। एक लाख का सिक्योरिटी बांड भी जमा करवाया जाएगा।
  • कन्याओं के विवाह की तैयारी पूर्ण हो चुकी है। 28 जनवरी को सामूहिक विवाह वैदिक रीति रिवाज से कराया जाएगा। आश्रम अपने स्तर से जहां तक हो सकेगा उन्हें पर्याप्त उपहार भी देगा। लोगों से भी संपर्क किया जा रहा है, ताकि किसी तरह की कमी न रहे। इच्छुक लोग खुद भी बाल सेवा आश्रम में संपर्क कर इस पुनीत कार्य में दान कर सकते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser