जेल बंदियों को प्राधिकरण की सेवा के बारे में बताया:सीजेएम ने कारागार का दौरा कर सुनीं महिला बंदियों की समस्याएं

भिवानी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन जिला एवं सत्र न्यायाधीश रमेश चंद्र डिमरी के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम हिमांशु सिंह ने शुक्रवार को जिला कारागार का दौरा। उन्होंने इस दौरान महिला जेल बंदियों से बात की उनकी समस्याएं सुनीं तथा उनका समाधान भी किया।

सीजेएम ने कारागार में साफ-सफाई, रहन-सहन, पीने के पानी की व्यवस्था, पुस्तकालय व भोजनालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान महिला जेल बंदियों को प्राधिकरण द्वारा दी जाने वाली सेवा के बारे में बताया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बचाव के लिए सोशल दूरी बनाए रखें, बार-बार साबुन से हाथों को धोएं, सैनिटाइजर का प्रयोग करें, मास्क का प्रयोग ठीक ढंग से करें और औपचारिकता ना करें। उन्होंने बताया कि कोरोना से जिनकी मौत हुई, उनके परिजनों/आश्रितों को सरकार द्वारा 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है जिसके लिए कोविड पॉजिटिव का प्रमाण, मृत्यु प्रमाण पत्र सहित जरूरी दस्तावेज लगाना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि जिन बच्चों ने बीमारी से लड़ते हुए अपने माता-पिता या माता-पिता में से किसी एक को कोविड महामारी के दौरान खो दिया है, ऐसे बच्चों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इस अवसर पर जेल उपधीक्षक राय साहब, उप अधीक्षक नरेश बूरा, सहायक कमलजीत सिंह, कोऑर्डिनेटर दिनेश के अलावा अनेक जेल बंदी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...