पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कल से खुलेंगे स्कूल:‘4 बबल फॉर्मूले’ से लगेंगी 9वीं से 12वीं की कक्षाएं, बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए बनाए 8 नियम

भिवानी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जनसेवा विद्या विहार हाईस्कूल में कक्षा को सैनेटाइज करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
जनसेवा विद्या विहार हाईस्कूल में कक्षा को सैनेटाइज करते कर्मचारी।
  • मेन गेट से लेकर कमरों को किया जा रहा सैनिटाइज, विभाग का प्रयास- कमराें की बजाय खुले में लगाई जाएं कक्षाएं

सरकार के आदेश पर शिक्षा विभाग जिले में 9वीं से 12वीं तक के स्कूलाें काे खाेलने के लिए पूरी तैयारी में है। 16 जुलाई से विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत हाजिरी के साथ स्कूल खाेले जाएंगे और संक्रमण से बच्चाें काे बचाने के लिए विभाग का प्रयास रहेगा की कक्षाएं बंद कमराें की बजाय खुले में लगाई जाएं। स्कूलों ने लगभग 90% तक तैयारियां पूरी कर ली हैं। कुछ स्कूल 15 जुलाई को सैनिटाइजेशन का काम करेंगे।

जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह श्योराण ने बताया कि 9वीं से 12 वीं तक की कक्षाएं काेविड-19 के संबंध में जारी सरकारी गाइडलाइन के अनुसार खाेले जाएंगे। इस संबंध में बीईओ व सभी स्कूल प्राचार्या काे आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं और स्कूलाें ने इसकी तैयारी भी लगभग कर ली हैं। विभाग का प्रयास रहेगा कि कक्षाएं खुले में लगें। शिक्षक स्कूल में बच्चाें से जारी नियमाें की पालना करवाएंगे।

पेरेंट्स का नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जरूरी

  • काेराेना संक्रमण के समय 16 जुलाई से अभिभावकों के अनुमति पत्र के साथ विद्यार्थी कक्षा में आ सकेंगे।
  • विभाग 100 की बजाय 50 प्रतिशत विद्यार्थियों की ही एक दिन में कक्षाएं लगाएगा। 50 प्रतिशत विद्यार्थी अगले दिन कक्षाओं में पहुंचेंगे। इसी हिसाब से कक्षाओं में पढ़ाई जारी रखी जाएगी।
  • शिक्षा विभाग का प्रयास रहेगा कि साेशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए कक्षाएं कमराें की बजाय खुले में लगें ताकि संक्रमण का भय कम रहे।
  • गेट पर बच्चाें की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। जिसमें जांच की जाएगी की बच्चे का तापमान कितना है। अगर बच्चे का तापमान स्वास्थ्य के हिसाब से कम या अधिक पाया गया ताे उस बच्चे काे चिकित्सकीय जांच के लिए भेजा जाएगा।

इन नियमों का भी करना होगा पालन

  • काेई भी बच्चा स्कूल में भाेजन व अन्य खाने पीने की वस्तुएं साथ लेकर नहीं अाएगा। क्याेंकि किसी भी तरह के खान पीने की कक्षा के दाैरान मनाही रहेगी।
  • बच्चाें काे पानी अपने साथ घर से ही बाेतल में लाना हाेगा।
  • बच्चें काे जिस कमरे में जाे सीट उपलब्ध करवाई जाएगी उस पर उसका नाम लिखा हाेगा और अगली बार कक्षा के दाैरान भी बच्चे काे उसी डेस्क व उसी सीट पर बैठना हाेगा।
  • एक कक्ष रूम में 25 विद्यार्थियों काे ही बैठाया जाएगा।
  • बच्चा कक्षा में किसी दूसरे बच्चे से पाठ्य सामग्री या अन्य काेई वस्तु नहीं लेगा।

जानें... शहर में स्कूलाें की तैयारियां

  • शहर के किरोड़ीमल राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल में दाे दिन से प्राचार्या व अन्य स्टाफ सदस्य कक्षाएं शुरू करने की तैयारियों में लगे हुए हैं। स्कूल के बरामदों में साेशल डिस्टेंस के लिए रस्सियां बाध दी हैं। शिक्षकगण कक्षाओं काे सैनिटाइज करवाते हुए दिखाई दिए। कमराें की सफाई भी करवाई जा रही थी। शिक्षक कंप्यूटर साफ करवाने के बाद उन्हें जांच कर रहे थे कि सिस्टम प्राॅपर कार्य कर रहा है या नहीं। शिक्षा विभाग के निर्देश पर अगर जरूरत हुई की कक्षाएं बाहर लगाई जाएंगी, इसलिए कुछ कुछ बैंच बाहर निकाल उन्हें साफ करवाया है।
  • अनाज मंडी स्थित जनसेवा विद्याविहार हाई स्कूल के जिन कमराें में नाैवीं व दसवीं की कक्षाएं शुरू हाेंगी, उनके हर बैंच काे सैनिटाइज करवाया गया है। स्कूल के मुख्य द्वार, हाल समेत पूरे स्कूल काे सैनिटाइज करवाया गया। बच्चाें की इंट्री भी गेट पर थर्मल स्कैनिंग व सैनिटाइजेशन के बाद ही करने की व्यवस्था है।
  • वैश्य माॅडल सीनियर सेकंडरी स्कूल, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में भी सरकार की गाइडलाइन के अनुसार शिक्षक व स्टाफ सदस्य 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू करने की तैयारियों में लगे दिखाई दिए।
  • टीआईटी सीनियर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य डॉ डी पी कौशिक ने कहा कि वे संभावित तीसरी लहर वह सरकार की गाइड लाइन के अनुसार तैयारी कर रहे हैं।

पूरे स्कूल को धोकर बसों को भी किया सैनिटाइज

आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मिरान के संचालक सुरेंद्र जांगड़ा ने बताया कि 16 जुलाई से स्कूल खोलने के लिए निर्देश आए हुए हैं। लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। स्कूल की सफाई के साथ बसों को भी सैनिटाइज किया जा रहा है। 16 जुलाई से स्कूल संचालन ने स्कूल खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। थिलोड़ स्थित बीआर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के संचालक धर्मबीर सिंह ने बताया की तैयारी चल रही हैं। स्कूल भवन, बैंच, स्कूल वाहनों को साफ कर सैनिटाइज किया जा रहा है।

एक क्लास में 12 स्टूडेंट

ढिगावा के आर्य वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य वजीर मान ने बताया कि कक्षा कक्ष में 12 विद्यार्थियों को बैठाया जाएगा। हर मुख्य द्वार से क्लासरूम तक जाने के लिए हर क्लास का अलग रास्ता होगा। हर छात्र को सैनिटाइज किया जाएगा। जीनियस वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय को सैनिटाइज किया गया है। विद्यालय में सैनिटाइज की मशीन लगी हुई है। दक्ष इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक वीरेंद्र मान ने बताया कि चार कक्षाओं के बच्चों के लिए एक कक्ष में 14 बच्चों के लिए बैंच लगाए हैं। मास्क की भी व्यवस्था है।

जानिए... कैरू में स्कूलों को खोलने को लेकर क्या की गई हैं तैयारियां

राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूल कैरू के प्राचार्य मदन कुमार का कहना है कि विभाग के निर्देशानुसार 9वीं से लेकर 12वीं कक्षा के 4 कक्षाओं को चार बबल का नाम दिया गया है। यह बबल एक दूसरे से नहीं मिल सकेंगे। अगर एक बबल का एक भी बच्चा कोरोना पॉजिटिव आ जाता है तो उस बबल के सभी बच्चे 10 दिन तक घर पर रहेंगे। विद्यालय में आने वाले सब बच्चों की थर्मल स्कैनिंग होगी।

साथ ही किसी वाटर पॉइंट पर एक साथ भीड़ इकट्ठे नहीं हो पाएगी। सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाएगा और विद्यालय में लगाए गए मार्क या निशान के अनुसार ही उनको आगे की कार्यवाही करनी होगी। हर एक कमरे में 20 बच्चों को बिठाया जा सकेगा। कोई भी बच्चा अपनी चीज दूसरे के साथ शेयर नहीं करेगा और विद्यालय में मिड डे मील भी नहीं दिया जाएगा।

विद्यालय में कक्षाओं का समय सुबह 8:30 से दोपहर 11:30 बजे तक रहेगा। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय देवराला के प्राचार्य डॉ. सुरेंद्र सिंह का कहना है कि हम बच्चों के स्वागत व उनके पढ़ाई के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। विद्यालय को 15 जुलाई को सैनिटाइज किया जाएगा।

विद्यार्थियों की ऑनलाइन के साथ मैनुअली कक्षाएं शुरू करने की तैयारी कर ली है। सरकार व शिक्षा विभाग की गाइडलाइन के अनुसार कक्षाएं लगेंगी। सभी शिक्षकाें काे जरूरी निर्देश दे दिए हैं। स्कूल में 9वीं से 12वीं कक्षा तक लगभग 1600 विद्यार्थी हैं।'' -सविता घनघस, प्राचार्या, राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल।

स्कूल में 9वीं व 10वीं कक्षा में 200 छात्र हैं। नियमाें की पालना के साथ ही कक्षाएं लगाई जाएंगी।'' -अमित नारू, प्राचार्य, जनसेवा विद्याविहार हाईस्कूल।

खबरें और भी हैं...