पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Bhiwani
  • Despite The Strictness Of DC, Garbage Points Could Not Be Eliminated From The City, Traders Raised Slogans Against The Administration, Councilor Mann Resigned

डोर-टू-डोर कचरा उठाने का प्लान फेल:डीसी की सख्ती के बावजूद शहर से खत्म नहीं किए जा सके कचरा प्वाइंट, व्यापारियाें ने प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी, पार्षद मान ने दिया इस्तीफा

भिवानी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में बने कचरा प्वाइंट के विरोध में भगनपुरी मार्केट में प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते व्यापारी। - Dainik Bhaskar
बाजार में बने कचरा प्वाइंट के विरोध में भगनपुरी मार्केट में प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते व्यापारी।
  • कूड़ा उठाने के लिए नप के पास हैं 21 टिप्पर ऑटाे, जबकि 45 की जरूरत, दोपहर तक भी नहीं हो पाती सफाई

शहर में बने कचरा प्वाइंट व जगह जगह फैली गंदगी के कारण सड़काें पर चलते हुए भी लाेगाें का दम घुटने लगा है। इसके कारण ही पार्षद ईश्वर मान ने मंगलवार काे नगर पार्षद पद से डीसी काे अपना इस्तीफा साैंप दिया। उन्हाेंने नप पर डस्टबिन खरीद में भी अनियमितता बरते जाने के आरोप लगाए हैं। साथ ही व्यापारियाें ने बाजार में कचरा प्वाइंट काे लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और लाेगाें काे दुर्गंध से छुटकारा दिलाने की मांग की गई।

शहर में सफाई व्यवस्था काे लेकर नगरपरिषद व मार्केट कमेटी के अधिकारी गंभीर नहीं है। क्याेंकि दोपहर तक शहर के सरकुलर राेड व अन्य मुख्य मार्गाें पर बने कचरा प्वाइंटाें पर कूड़े के ढेर लगे रहते हैं। डीसी के सख्त आदेशों के बावजूद शहर से कचरा प्वाइंट खत्म नहीं किए जा सके हैं। इस वजह से आसपास रहने वाले निवासियाें व राहगीराें का कचरा प्वाइंटाें से उठती दुर्गंध के कारण दम घुट रहा है। शहर में सफाई व्यवस्था दम ताेड़ रही है। नगरपरिषद के कर्मचारी सफाई ताे करते हैं, लेकिन कूड़ा उठान की उचित व्यवस्था नहीं है।

नप के पास कूड़ा उठाने के लिए 21 टिप्पर ऑटो हैं, जबकि 45 की जरूरत है। ऐसे में गंदगी काे कचरा प्वाइंट पर जमा किया जाता है, इसके बाद ट्रैक्टर ट्राॅली के माध्यम से कचरे काे डंपिंग स्टेशन तक पहुंचाया जाता है। इसके अलावा शहर के 40 प्रतिशत हिस्से में ठेकेदार के माध्यम से सफाई हाे रही है। ठेकेदार के कर्मी समय से कचरा प्वाइंट से कूड़े का उठान नहीं कर रहे हैं, जिससे लोगों को गंदगी व दुर्गंध का सामना करना पड़ रहा है।

शहर के सरकुलर राेड पर यहां जमा रहता है कचरा

  • शहर में सरकुलर राेड स्थित घंटाघर के नजदीक कृष्णा काॅलाेनी माेड़ पर।
  • पतराम गेट नजदीक फुलादेवी स्कूल के पास।
  • लाेहारू राेड ओवरब्रिज के नीचे।
  • नया हाउसिंग बाेर्ड के नजदीक, हनुमान गेट के पास बाजार व काॅलाेनियाें में।

यहां भी बने हैं कचरा प्वाइंट

  • नेहरू पार्क की बैक साइड में कचरा जमा रहता है।
  • पुराना हाउसिंग बाेर्ड व हुडा पार्क के पास भी कचरा प्वाइंट बना हुआ है।
  • कमला भवन के नजदीक व हांसी गेट से पटेल नगर जाने वाली गली में।
  • भगनपुरी स्थित महाबीर घाटी क्षेत्र में व जैन चाैक में केएम स्कूल के पास।
  • पुराना बस स्टैंड व फैंसी चाैक पर।
  • बागड़ी मार्केट, भाेजावाली माता मंदिर के नजदीक।
  • दिनाेद गेट पर वैश्य सीनियर सेकंडरी स्कूल के पास।

डीसी की सख्ती के बाद शहर में चलाया सफाई अभियान

मंगलवार काे डीसी आरएस ढिल्लो की सख्ती के चलते शहर को गंदगी से निजात दिलाने की कवायद शुरू हुई। मंगलवार को आनन-फानन में कर्मचारियाें ने सब्जीमंडी, अनाज मंडी और लघु सचिवालय के सामने रोड पर सफाई अभियान चलाकर कूड़े का उठान किया गया। डीसी आरएस ढिल्लो ने मंगलवार काे नगर परिषद और मार्केट कमेटी अधिकारियाें काे सख्त निर्देश दिए थे कि सबसे पहले उन क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करवाए जहां लोगों का आवागमन सबसे अधिक रहता है।

कचरा उठाने के बाद भी नाक बंद करके गुजरना पड़ता है

डीसी की सख्ती के बाद भले ही नप व मार्केट कमेटी ने शहर में सफाई अभियान चला है, लेकिन वास्तव में नगरवासियाें काे गंदगी से मुक्ति दिलाने के लिए शहर में एक दर्जन से भी ज्यादा स्थानाें पर बने कचरा प्वाइंट काे खत्म करना हाेगा। प्वाइंट से कचरा उठाने के बाद भी जब लाेग नजदीक से गुजरते हैं ताे उन्हें नाक बंद करना पड़ता है।

कचरा प्वाइंट खत्म करने की मांग

बाजार में बने कचरा प्वाइंट काे लेकर मंगलवार काे व्यापारियाें ने भगनपुरी मार्केट स्थित चाैक पर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही प्रशास से यहां बने कचरे प्वाइंट काे खत्म करने की मांग की ताकि क्षेत्र में बीमारियां न फैले। भगनपुरी मार्केट के प्रधान श्यामलाल व भिवानी व्यापार मंडल के प्रधान जेपी कौशिक ने कहा कि भगनपुरी मार्केट चौक कूड़ा कचरा होने की वजह से बाजार के अंदर दुर्गंध पैदा हो रही है। जिससे व्यापारियाें व ग्राहकाें काे सांस लेने में भी दिक्कत होती है। बाजार में गंदगी फैलने से दुकानों में बैठना मुश्किल हो रहा है। श्यामलाल गोटे वाले ने कहा कि पहले हमने सीएम विंडो में इस समस्या को लेकर शिकायत दी थी। फिर भी किसी प्रकार की कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने प्रशासन से कचरा प्वाइंट खत्म करने की मांग की है।

तीन बार दे चुके इस्तीफा, नहीं किया गया मंजूर

डीसी आरएस ढिल्लाे काे साैंपे ज्ञापन में ईश्वर मान ने आरोप लगाया कि नप के तहत शहर में करवाए जा रहे विकास कार्य कमीशन व टैक्स की भेंट चढ़ रहे हैं। इससे विकास कार्याें पर पूरा पैसा नहीं लग रहा है। आरोप लगाया कि नप अधिकारी, कर्मचारी व कमीशन एजेंट मिलकर दाे साल बाद ही गलियाें के टेंडर लगाकर उनके निर्माण की आड़ में कमीशन का खेल खेल रहे हैं। इसके अलावा जाे गलियां ठीक हैं उन्हें भी उखाड़कर निर्माण करवाया जा रहा है। इस पर डीसी ने कहा कि वे नागरिकाें के सामने बनी समस्याओं का जायजा लेंगे और संबंधित अधिकारियों काे आवश्यक दिशा निर्देश देकर समस्याओं का समाधान करवाएंगे। विकास कार्याें में अनियमितताओं की जांच भी करवाएंगे। उल्लेखनीय है कि ईश्वर मान इससे पहले भी विकास कार्याें में अनियमितताओं व अन्य मांगाें काे लेकर तीन बार पार्षद पद से अपना इस्तीफा प्रशासन काे दे चुके हैं, लेकिन उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया था।

जानिए... मान ने क्या-क्या लगाए आराेप

  • शहर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप है। जगह जगह कूड़ा फैला हुआ है। सफाई के टेंडर के नाम पर नप लाखाें रुपये खर्च कर रही है लेकिन शहर में सफाई व कूड़े का उठान समय पर नहीं हाे रहा है।
  • स्ट्रीट लाइट पर भी नप लाखाें रुपये खर्च रही है, लेकिन शाम हाेते ही अधिकतर शहर अंधेरे में डूब जाता है।
  • बार बार शिकायत के बावजूद अमरुत योजना के तहत तथा जनस्वास्थ्य विभाग की तरफ से सीवर के मेन हाेल के ढक्कन घटिया किस्म के लगाए जा रहे है।
  • नगरवासियाें काे पीआईडी बनवाने में दिक्कतें आ रही है।
  • नप घटिया क्वालिटी के छाेटे डस्टबिन बार बार खरीद रही है, लेकिन कुछ दिन बाद ही डस्टबिन टूट जाते हैं।
  • शहर में बेसहारा पशुओं का जमावड़ा है, नागरिक इनसे परेशान हैं। नप इस संबंध में काेई कार्रवाई नहीं कर ही है।
  • नप नंदीशाला में पशुओं के लिए चारे का प्रबंध भी नहीं कर पा रही है।
खबरें और भी हैं...