पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वेदर अलर्ट:शहर में बूंदाबांदी, ग्रामीण क्षेत्र में 8 एमएम तक बारिश, खंभे टूटने से बिजली गुल

भिवानी20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. बारिश के दौरान सरकुलर रोड से गुजरता एक रेहड़ी चालक। - Dainik Bhaskar
भिवानी. बारिश के दौरान सरकुलर रोड से गुजरता एक रेहड़ी चालक।
  • बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात यास के प्रभाव के कारण 2 दिन से क्षेत्र में आंधी के साथ हो रही बूंदाबांदी
  • आज भी तेज हवाएं चलने और बरसात के आसार

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात यास के प्रभाव के कारण जिले में रविवार दोपहर बाद ढाई बजे 18 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चलीं धूल भरी हवाएं चली और लगभग तीन बजे बाद शुरू हुई बूंदाबांदी 15-20 मिनट में बारिश में बदल गई। इससे शहर में रुक-रुककर लगभग 1 एमएम तो गांवों में 8 एमएम तक बरसात दर्ज की गई। मौसम विभाग का मानना है कि यास का प्रभाव सोमवार को भी बना रहेगा।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार आगामी तीन चार दिन मौसम में बदलाव के चलते कहीं-कहीं बारिश की संभावना के साथ तेज हवाएं और बादलवाई रहने की संभावना बनी है। रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 42 डिग्री व न्यूनतम तापमान 25.6 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान अनुसार इलाके में रविवार दोपहर बाद मौसम ने पलटी मारी।

ईशरवाल के आसपास के गांवों में तेज आंधी व मेघगर्जन के साथ बारिश हुई। बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। बादलों के कारण दिन में ही अंधेरा छा गया। गांवों में 5 से 8 एमएम तक बारिश होने से मौसम में ठंडक का अहसास हुआ। तेज आंधी के कारण कई गांवों में भारी संख्या में पेड़ व बिजली के 3 दर्जन के करीब पोल गिरने के समाचार हैं।

पेड़ गिरने से जहां रास्ते बाधित हो गए वहीं पोल गिरने से आधा दर्जन गांवों की बिजली सप्लाई ठप हो गई। बिजली कर्मचारी बिजली सुचारू रूप से चालू करने के लिए लगे हुए हैं। बिजली निगम के एसडीओ होशियार सिंह ने बताया कि अंधड़ के कारण करीबन 3 दर्जन पोल गिर गए हैं जिससे निगम को लाखों का नुकसान हो गया है। पोल गिरने से हसान, साहलेवाला, मढ़ान, कतवार सहित आधा दर्जन की की बिजली गुल हो गई है।

कर्मचारी गांवों की बिजली चालू करने के लिए काम कर रहे हैं जल्द ही चालू हो जाएगी खेतो। की बिजली सोमवार को चल पाएगी।

तेज अंधड़ में लोहारू-हिसार रोड पर टूटकर गिरे कई पेड़

लोहारू-हिसार मुख्य सड़क मार्ग पर गांव सिंघानी खरकड़ी के बीच तेज अंधड़ के कारण भारी पेड़ टूटकर सड़क मार्ग पर गिर गए। जिस कारण आवागमन में भी बाधा उत्पन्न हुई। आसपास के लोगों ने बताया कि लॉकडाउन के चलते यहां से फिलहाल वाहनों का आवागमन कम है, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

दूसरी ओर करीब आधा दर्जन पेड़ गिरने से प्राकृतिक संपदा को भी भारी नुकसान हुआ है। लोगो ने सड़क मार्ग के बीच गिरे हरे पेड़ों को तुरन्त उठवाने की मांग की है अन्यथा ये पेड़ लकड़ी माफिया के द्वारा खुर्द बुर्द किए जा सकते हैं।

अमावस्या को रोहिणी नक्षत्र बना रहा उत्तम वृष्टि के योग

नांवा ने बताया कि 10 जून गुरुवारी अमावस्या को रोहिणी नक्षत्र उत्तम वृष्टि के योग बना रहा है। गुरुवारी अमावस्या होने से सुभिक्षकारी, वृष्टि कारक तथा आरोग्य बढ़ाने वाली कही गई है। अमावस्या को रोहिणी का साथ होने से प्रजा में सुख का संचार तथा अच्छे स्वास्थ्य की कामना बढ़ेगी। भारतीय ज्योतिषशास्त्र के अनुसार अमावस्या के 72 घंटे की अवधि में हरियाणा सहित उत्तर भारत में अच्छी वर्षा जबकि दक्षिण भारत के अनेक प्रांतों में अति वृष्टि यानि भारी वर्षा से हानि के योग भी बन रहे हैं।

खबरें और भी हैं...