पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान आंदोलन:आंदोलन को सफलता के दरवाजे तक ले जाएगी किसान-मजदूरों की एकता

भिवानी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. कितलाना टाेल पर जारी बेमियादी धरने पर राेष जताते माैजूद किसान और मजदूर। - Dainik Bhaskar
भिवानी. कितलाना टाेल पर जारी बेमियादी धरने पर राेष जताते माैजूद किसान और मजदूर।
  • चेतावनी - कितलाना टोल पर गूंजे किसान-मजदूर एकता जिंदाबाद के नारे

गरीब के चूल्हे पर अधिकतर सरसों का तेल इस्तेमाल होता है, लेकिन स्टॉकिस्टों की कालाबाजारी और सरकार की संवेदनहीनता के कारण आज गरीब और मध्यम वर्ग की जेब पर डाका डाला जा रहा है।

यह आरोप बहुजन समाज के नेता सुरेंद्र कटारिया ने कितलाना टोल पर चल रहे किसानों के अनिश्चितकालीन धरने को संबोधित करते हुए लगाए। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन ने गरीबों की ढाल बनने का काम किया है। अगर ये आंदोलन नहीं होता तो हरियाणा सरकार कभी भी गरीबों के खाते में 250 रुपये डालने की घोषणा ना करती।

उन्होंने कहा कि किसान की सरसों का भाव खुले बाजार में 6500 रुपये हैं, जबकि सरसों के तेल का भाव 200 रुपये लीटर से अधिक हो गया है। मौजूदा गठबंधन सरकार किसान और मजदूर के पीछे हाथ धोकर पड़ी है और जमकर शोषण कर रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार लाख कोशिश कर ले लेकिन किसान-मजदूर की एकजुटता को नहीं तोड़ पाएगी। उन्होंने कहा कि किसान-मजदूर मिलकर तीन काले कानूनों के खिलाफ चल रहे इस जनांदोलन को कामयाबी के दरवाजे तक लेकर जाएंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर कितलाना टोल के अनिश्चितकालीन धरने के 164वें दिन खाप सांगवान 40 के सचिव नरसिंह डीपीई, श्योराण खाप 25 से प्रधान बिजेंद्र बेरला, किसान सभा रणधीर कुंगड़, मीरसिंह नीमड़ी वाली, बहुजन नेता सुरेन्द्र कटारिया, डॉ. चंदन समसपुर, कृष्णा छपार, मुन्नी देवी खातीवास ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की।

धरने का मंच संचालन रणधीर घिकाड़ा ने किया। इस अवसर पर मा. ताराचंद चरखी, गंगाराम श्योराण, सूरजभान सांगवान, गुलजारी सरपंच चरखी, शमशेर प्रधान, उमेद चरखी, सुरेंद्र कुब्जानगर, संजय बादल, गंगानाथ, घनश्याम आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...