क्राइम:धोखाधड़ी कर बैंक के सहायक अधिकारी से हड़पे ~ 50 हजार

भिवानी2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • फोन पे के जरिये 4 बार में निकली राशी, मामला दर्ज

फोन कॉल कर धोखाधड़ी से बैंक खातों से राशि ट्रांसफर कर लोगों से रकम हड़पने वाले गिरोह के एक सदस्य ने सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक के सहायक अधिकारी से भी धोखाधड़ी कर लगभग 50 हजार की राशि हड़प कर ली। पुलिस को दी शिकायत में गांव देवसर निवासी निशा ने बताया कि वह सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक में सहायक अधिकारी के पद पर कार्यरत है। उसके चाचा शिवकुमार सिंह के पास किसी व्यक्ति की फोन कॉल आई और चाचा से फोन पे अकाउंट के बारे में पूछा। उसके चाचा को किसी व्यक्ति से पैसे लेने थे, इसलिए उसके चाचा ने समझा की फोन करने वाला व्यक्ति वहीं है जिस पर पैसे लेने हैं। इस पर उसके चाचा ने कहा कि वह फोन पे का उपयोग नहीं करता। इसलिए उसके चाचा ने उसका मोबाइल नंबर उक्त व्यक्ति को बता दिया।

कुछ समय बाद कॉल उसके पास आई। इससे पूर्व उसके चाचा की फोन कॉल आई और कहा कि वह फोन पे से उसके खाते में पैसे डलवाता है। क्योंकि उसका चाचा पहले भी घर खर्च के लिए राशि ट्रांसफार्मर करवाते रहे हैं। इसलिए उसने सोचा की हर बार की तरह चाचा पैसे भेज रहे हैं। उक्त व्यक्ति ने कहा कि वह अपने बैंक खाते में बैलेंस जांच ले ताकि पैसे भेजने के बाद उसे पता चल सके की पहले उसके खाते में कितने पैसे थे और उसने कितनी राशि भेजी है। उसने अपने खाते का बैलेंस चैक किया। इसके बाद उक्त व्यक्ति ने कहा कि फोन पे एप पर रिक्वेस्ट भेजी है। उसने कहा कि इसमें सेंड ऑप्शन है न कि रिक्वेस्ट का। इस पर उक्त व्यक्ति ने कहा कि अगर सेंड पर क्लिक करोगे तो रिक्वेस्ट का ऑप्शन आएगा, लेकिन इसी दौरान नेट बंद होने के कारण पैसे ट्रांसफर नहीं हुए। इस पर उक्त व्यक्ति ने कोई और नंबर मांगा। इस पर उसने अपने पिता का नंबर दे दिया। जब उसने ट्रांजेक्शन की तो उसके खाते से राशि डेबिट हो गई।

इस पर उक्त व्यक्ति से बात की तो उसने कहा कि गलती हो गई पहले पिन नंबर डालना था इसलिए दोबारा से ट्राई करें। उसने उक्त व्यक्ति के बताए अनुसार चार बार ट्राई किया तो उसके खाते से चार बार में कुल 49 हजार 9996 रुपये की राशि निकल गई। इसके बाद उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर बंद हो गया। मामले की शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 379 व 420 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...