पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एयर क्वालिटी इंडेक्स:दस दिन से डंपिंग स्टेशन पर सुलग रहा कचरा शहर में 182 पर पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स

भिवानी2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. दादरी रोड क्षेत्र में कूड़ा निस्तारण स्थल पर कचरे में लगी आग से उठता धुआं।
  • धुएं से दादरी रोड स्थित कचरा निस्तारण केंद्र के आसपास रहने वाले लोगों का जीना दूभर, नप चेयरमैन बोले- आग को बुझाने के लिए लगातार डलवाएंगे पानी

दादरी रोड पर आठ एकड़ भूमि पर बने डंपिंग स्टेशन पर पिछले दस दिन से आग लगी हुई। इससे आसपास के इलाके में धुआं फैलने से सांस लेना तो दूभर हो ही गया है, शहर में एयर क्वालिटी इंडेक्स भी 182 पर पहुंच गया है, जोकि मॉडरेट है यानि इसके अनुसार शहर की हवा में प्रदूषण का स्तर फेफड़े व हार्ट के मरीजों के लिए खतरनाक है।

जबकि 50 एक्यूआई ही अच्छा माना जाता है। दूसरी ओर संज्ञान में होने के बावजूद अधिकारी इसे गंभीरता से नहीं ले रहे। अिधकारियों का दावा है कि रोज फायर ब्रिगेड की 5-6 गाड़ियां सुलगते कचरे पर पानी डालती हैं, लेकिन कमाल की बात यह है कि 8 दिन में भी यह आग बुझ नहीं पाई है। नप चेयरमैन रणसिंह यादव ने कहा कि आग बुझाने के लिए लगातार पानी डलवाया जाएगा।

पिछले आठ दिन में 30 पायदान बढ़ा एक्यूआई

11 अक्टूबर 150 12 अक्टूबर 160 13 अक्टूबर 158 14 अक्टूबर 127 15 अक्टूबर 127 16 अक्टूबर 162 17 अक्टूबर 172 18 अक्टूबर 182

आग पर काबू पानी के लिए कर रहे हैं प्रयास

नगरपरिषद ईओ संजय यादव ने बताया कि कूड़े में आग लगी हुई और उनके संज्ञान में मामला है। हर रोज 5 से 6 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पानी डालती हैं, लेकिन हवा चलने के कारण आग फिर सुलग जाती है। आग पर काबू नहीं पाया जा रहा है। लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

8 एकड़ जमीन में बना है ठोस कूड़ा निस्तारण केंद्र

भिवानी के अलावा बवानीखेड़ा, तोशाम और लोहारू से निकलने वाले कचरे के स्थायी निस्तारण के लिए चार साल पहले बवानीखेड़ा में प्लांट बनाने की योजना थी। कस्बावासियों के विरोध के चलते प्लांट निर्माण ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। इसके बाद दादरी रोड पर कूड़ा निस्तारण केंद्र में ही प्लांट बनाने की योजना बनी, लेकिन यह भी रद्द हो गई। अब फिर बवानीखेड़ा में ही प्लांट बनाने की योजना है, लेकिन अभी तक प्लांट की फाइल चंडीगढ़ में ही धूल फांक रही है। तीन साल पहले प्रशासन ने दादरी रोड क्षेत्र में नप की 8 एकड़ जमीन पर 10 लाख रुपये की लागत से दीवार खींच कर ठोस कूड़ा निस्तारण केंद्र बना दिया था। यहां शहर से प्रतिदिन निकलने वाला 100 टन कचरा डाला जा रहा है। इस कूड़े की दुर्गंध से आस-पास रह रहे लोगों का जीना दूभर हो गया है।

उधर, आग लगने के बाद कचरे से कार्बन मोनो ऑक्साइड, कार्बन डाइ ऑक्साइड, नाइट्रिक ऑक्साइड जैसी जहरीली गैसें निकलती हैं, जो मनुष्य के साथ प्राकृति के लिए भी नुकसानदायक है। डिप्टी सीएमओ डाॅ. कृष्ण कुमार ने बताया कि कचरा जलने से श्वास रोग, एलर्जी व आंखों में जलन से संबंधित रोग होते हैं। ऐसे में जहां कचरा जल रहा हो उसके पास से गुजरना भी स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें