वारदात:सीसर के कृष्ण की हत्या में हांसी का प्रॉपर्टी डीलर गिरफ्तार, झगड़े के दौरान मौत के बाद जीताखेड़ी में फेंक दिया था शव

बवानीखेड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बवानीखेड़ा पुलिस ने किया ब्लाइंड मर्डर का खुलासा, दोनों दोस्तों ने हांसी में साथ पी थी शराब

11 दिन पहले हांसी भिवानी रोड पर जीता खेड़ी में सड़क के साथ झाड़ियों के पीछे डाले सीसर निवासी कृष्ण के मर्डर का खुलासा हो गया है। बवानीखेड़ा पुलिस ने कृष्ण के हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है। कृष्ण की मौत शराब पीते वक्त झगड़े के दौरान हुई थी। बताया गया है कि मृतक कृष्ण व उसका हत्यारोपी दीपचंद करीब 15-16 साल से अच्छे दोस्त थे। कृष्ण अविवाहित था। थाना प्रभारी जयसिंह ने बताया कि मृतक कृष्ण व हत्यारोपी दीपचंद 22 जून को घर से गाड़ी में हांसी के लिए निकले थे। दीपचंद हांसी में प्रॉपर्टी का काम करता है। हांसी पहुंचने के बाद उन्होंने शराब पी। 

शराब के नशे में उनकी कहासुनी हो गई। इस दौरान कृष्ण का सिर गाड़ी की खिड़की से टकरा गया और वह गाड़ी में ही लॉक होकर रह गया। बाद में दीपचंद ने जब गाड़ी का दरवाजा खोला तो कृष्ण मृत अवस्था में मिला। इससे दीपचंद डर गया। दीपचंद ने शव जीताखेड़ी के पास खेतों में फेंक दिया। ध्यान रहे कि 24 जून को जीताखेड़ी के पास सड़क किनारे खेतों में मिले शव का पुलिस ने रोहतक पीजीआई में पोस्टमार्टम करवा कर अन्तिम संस्कार करवा दिया गया था।

बाद में सोशल मीडिया पर शव का फोटो वायरल किया गया था। इसी आधार पर मृतक के भाई ईश्वर ने अपने भाई कृष्ण के शव की शिनाख्त की थी। पुलिस ने उस वक्त अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ हत्या व शव को खुर्द बुर्द किए जाने का मामला दर्ज किया था। शव की पहचान होने के बाद पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाया और जांच के आधार पर ही कृष्ण की हत्या के आरोप में उसी के दोस्त दीपचंद को गिरफ्तार कर लिया। उसे बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...