पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Bhiwani
  • If 28 Lakh Rupees Were Not Returned, Then The Transport Employee Committed Suicide By Hanging Himself In The Fields Of Nairangabad, 14 Km From The House.

आत्महत्या:28 लाख रुपये नहीं लौटाए तो ट्रांसपाेर्ट कर्मचारी ने घर से 14 किलोमीटर दूर नाैरंगाबाद के खेताें में फांसी लगाकर जान दी

भिवानी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल स्थित पुलिस चौकी के सामने बैठे मृतक भूपेश के परिजन व ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल स्थित पुलिस चौकी के सामने बैठे मृतक भूपेश के परिजन व ग्रामीण।
  • सुसाइड नोट में योगेश नामक व्यक्ति को ठहराया मौत के लिए जिम्मेदार, आरोपी के दो मोबाइल नंबर भी लिखे

ट्रांसपाेर्ट कर्मी ने बीती रात भिवानी-राेहतक मुख्य मार्ग क्षेत्र स्थित गांव नाैरंगाबाद के खेताें में एक रिसाेर्ट के नजदीक नीम के पेड़ पर फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने एक व्यक्ति के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मृतक के पास एक सुसाइड नाेट भी मिला है, जिसमें उसने अपनी माैत का कारण याेगेश नामक एक व्यक्ति काे ठहराया है। जिस की तरफ वह साढ़े 28 लाख रुपये मांगता है। मंगलवार सुबह लगभग चार बजे गांव नाैरंगाबाद के ग्रामीणाें ने एक व्यक्ति काे फांसी के फंदे से लटका हुआ देखा। उन्होंने मामले की सूचना खरक पुलिस चाैकी में दी।

सूचना पर पुलिस माैके पर पहुंची। मृतक के पास मिले उसके मोबाइल से शव की पहचान गांव जाटू लाेहारी निवासी 36 वर्षीय भूपेश के रूप में हुई। पुलिस ने मामले की सूचना उसके परिजनाें काे दी। परिजन माैके पर पहुंचे और पुलिस शव काे फंंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में लेकर आई। पुलिस ने मृतक के पास से एक सुसाइड नाेट मिला है। जिसमें मृतक ने अपनी माैत का कारण याेगेश नामक व्यक्ति काे माना है। नाेट में उक्त योगेश के दाे मोबाइल नंबर भी लिखे हैं और याेगेश से साढ़े 28 लाख रुपये के लेने की बात है।

योगेश की तलाश में जुटी पुलिस

मृतक के बड़े भाई नरेश ने पुलिस शिकायत में बताया कि उसका भाई तीन साल से लुधियाना में एक ट्रांसपोर्ट में नौकरी करता था। वहां उसका किसी याेगेश नामक व्यक्ति से पैसाें का लेने-देन था। भूपेश आरोपी याेगेश से साढ़े 28 लाख रुपये मांगता था। इस संबंध में उसके भाई की याेगेश से मोबाइल पर पैसाें के लिए बातचीत हाेती थी, लेकिन वह पैसे नहीं दे रहा था। एक माह से भूपेश घर पर आया था। याेगेश उसके पैसे नहीं दे रहा था। जिससे वह काफी परेशान था। साेमवार शाम काे वह भिवानी गया था, लेकिन वह रात काे घर नहीं आया।

उन्होंने साेचा कि वह किसी जरूरी काम से कही चला गया हाेगा, लेकिन सुबह चार बजे पुलिस ने फाेन पर उन्हें भूपेश के संबंध में सूचना दी। जांच अधिकारी गिरिराज ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। याेगेश नामक व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत मामल दर्ज किया है। अभी यह पता नहीं लग पाया कि आरोपी याेगेश काैन है और कहां रहता है। मामले की सच्चाई याेगेश से पूछताछ के बाद ही सामने अाएगी।

खबरें और भी हैं...