विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस:मानसिक तनाव होने पर बिना देरी के डॉक्टर की सलाह लें: डॉ. शांडिल्य

भिवानी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पखवाड़े के दौरान सिविल अस्पताल में बैठक काे संबाेधित करते सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य। - Dainik Bhaskar
विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पखवाड़े के दौरान सिविल अस्पताल में बैठक काे संबाेधित करते सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य।
  • तनाव लंबे समय तक रहे तो इम्यून सिस्टम व हृदय को पहुंचा सकता है नुकसान

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पखवाड़े के दौरान चौधरी बंसीलाल सामान्य अस्पताल के कॉन्फ्रेंस हॉल में सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य की अध्यक्षता में एक बैठक की। बैठक में मनोचिकित्सक डॉ. साक्षी ने मानसिक तनाव के कारणों व निवारणों के बारे में चिकित्सा अधिकारियों व कर्मचारियों को मानसिक तनाव से संबंधित जरूरी जानकारी दी।

डॉ. साक्षी ने बताया कि मानसिक तनाव होने पर किसी स्थिति से निपटना मुश्किल हो जाता है। दिल की धड़कन बढ़ जाती है और मानसिक और शारीरिक चेतना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। हमें पसीना आता है। कई बार पूरे शरीर के रोंए खड़े हो जाते हैं। आज हमारे जीवन में तनाव की मात्रा कहीं ज्यादा है। अगर तनाव लम्बे समय तक रहे तो ये हमारे इम्यून सिस्टम और हृदय को नुकसान पहुंचा सकता है।

तनाव के हो सकते हैं कई कारण

सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य ने बताया कि तनाव के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि काम, बेरोजगारी, पैसा, अलगाव, आपका स्वास्थ्य और मूड, नशाखोरी और ड्रिंक करना, हिंसा और बुरे व्यवहार का शिकार होना आदि। जीवन में उतार-चढ़ाव आना बहुत आम बात है लेकिन अगर ये लम्बे समय तक बनी रहे तो ये जिन्दगी से जुड़ी बाकी चीजों को भी खराब कर सकती है।

तनाव होने पर हमेशा चीजों को सकारात्मक तरीके से देखने की कोशिश करनी चाहिए। जब भी कभी आपको लगे कि तनाव आपके दिमाग पर हावी हो रहा है तो गहरी सांसें लेना शुरू कर दें। आप लम्बी सांस लें और धीरे-धीरे उसे छोड़े। इस प्रक्रिया के दौरान सांस भरते वक्त पेट बाहर की तरफ आना चाहिए और सांस छोड़ते वक्त अन्दर की तरफ जाना चाहिए। इससे तनाव को कम करने में तुरन्त मदद मिलती है। बहुत शुगर और बहुत अधिक सॉल्ट से भरा भोजन ना करें। यह शारीरिक के साथ ही मानसिक सेहत बिगाड़ने वाला साबित होता है। इसके साथ ही इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अपने मोबाइल पर बहुत अधिक समय व्यस्त ना रहें।

खबरें और भी हैं...