पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भिवानी:भगवान विश्वकर्मा को कहा जाता है दुनिया का सबसे पहला इंजीनियर: प्रो. आरके मित्तल

भिवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय के नए भवन परिसर में की विश्वकर्मा पूजा

भगवान विश्वकर्मा की पूजा के बिना कोई भी तकनीकी कार्य शुभ एवं सफल नहीं माना जाता। भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का सबसे पहला इंजीनियर कहा जाता है।यह बात चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आरके मित्तल ने गुरुवार काे विश्वविद्यालय के प्रेमनगर स्थित नए भवन परिसर में विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा ने ही ब्रह्माजी की सृष्टि के निर्माण में मदद की थी और पूरे संसार का नक्शा बनाया था।

शास्त्रों के अनुसार विश्वकर्मा वास्तुदेव के पुत्र हैं। ऐसा भी कहा जाता है कि पांडवों के लिए माया सभा भी विश्वकर्मा ने ही बनाई थी। ऋग वेद में कहा गया है कि स्थापत्य वेद जो मशीन और आर्किटेक्ट की साइंस है, उसे भी विश्वकर्मा ने बनाया है। एक तरह से भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का सबसे पहला इंजीनियर कहा जाता है।

उन्होंने कहा कि हमारे प्राचीन ग्रंथों एवं वेदों के अनुसार प्राचीन काल में जितने भी सुप्रसिद्ध नगर और राजधानियां थीं, उनका सृजन भी विश्वकर्मा ने ही किया था। जैसे सतयुग का स्वर्ग लोक, त्रेतायुग की लंका, द्वापर की द्वारिका और कलियुग के हस्तिनापुर। महादेव का त्रिशूल, श्रीहरि का सुदर्शन चक्र, हनुमानजी की गदा, यमराज का कालदंड, कर्ण के कुंडल और कुबेर के पुष्पक विमान का निर्माण भी विश्वकर्मा ने ही किया था।

इस अवसर पर कुलसचिव डॉ.जितेन्द्र भारद्वाज, डीन प्रो.संजीव कुमार, प्रो.ललिता गुप्ता, डॉ.विकास गुप्ता, डॉ.आशा पूनिया, केके शर्मा, ताराचंद, केतन अग्रवाल, इंजीनियर नवीन, पंकज, हनी मित्तल संजय शर्मा, अंकुर गोयल सहित अनेक अभियान्त्रिकी कर्मचारियों एवं श्रमिकों ने भगवान विश्वकर्मा की पूजा अर्चना की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें