डाडम प्रकरण..मृतक तूफान के भाई मिथुन ने लगाए आराेप:अगस्त से चल रहा था रात को खनन, क्रेशरों पर भेजे जा रहे थे ओवरलाेड वाहन

भिवानी14 दिन पहलेलेखक: महबूब अली
  • कॉपी लिंक
  • मांगने के बावजूद उपलब्ध नहीं कराए जा रहे थे सुरक्षा उपकरण, हादसे के डर से उसने नवंबर माह में छाेड़ िदया था काम

डाडम में पहाड़ के गिरने के कारण पांच लाेगाें की माैत और दाे के घायल हाेने के मामले मेंदिन प्रतिदिन नए-नए खुलासे हाे रहे हैं। मृतक के भाई मिथुन ने आराेप लगाया कि हादसे वालेदिन ही काम शुरू कराने के लिए पाेपलैंड मशीनाें के डाडम में खड़ा करने की बात पूरी तरह से गलत है। डाडम में हर राेज अगस्त 2021 से रात के अंधेरे में खनन का कार्य किया जाता था। डाडम से पत्थर भरकर ओवरलाेड वाहनाें काे क्रेशराें पर भेजा जाता था।

खनन के दाैरान कर्मचारी और पाेपलैंड मशीने चलाने वाले लाेगाें काे सुरक्षा उपकरण उपलब्ध नहीं कराए जाते थे। जिसके कारण मिथुन ने नवंबर 2021 में पाेपलैंड मशीन काे चलाने का कार्य छाेड़दिया था तथा अपने घर बिहार के कटिहार वापस आ गया था। मिथुन का कहना है कि उसने भाई तूफान सिंह की माैत के मामले की रिपाेर्ट ताेशाम थाने में 2 जनवरी काे दर्ज कराई थी। आराेप है कि रिपाेर्ट दर्ज कराए 5दिन बीत गए है मगर अभी तक भी उसके किसी भी पुलिस अधकिारी या फिर कर्मचारी ने बयान दर्ज करने तक मुनासिब नहीं समझा है।

मिथुन का कहना है कि वह भाई की माैत के मामले में इंसाफ लेकर रहेगा। इसके लिए सीएम और पीएम से भी शिकायत की जाएगी। जुलाई माह में वह डाडम में खनन कार्य में लगा था। नवंबर माह तक कार्य किया। इसके बाद वह हादसे के डर से घर चला आया था।

बस कुछदिन और काम कर लें, फिरबिहार ही आ जाना..

मिथुन ने बताया कि डाडम में कर्मचारियाें काे सेफ्टी उपकरण खनन के दाैरान उपलब्ध नहीं कराए जाते थे। मैंने डाडम से लाैटने के बाददिसंबर माह में भी कई बार तूफान से कहा था कि वहां पर काम करने से खतरा है। जल्द ही बिहार आ जा, यही पर मिलकर दाेनाें काेई दूसरा काम करेंगे।

कंपनी के पदाधिकारी बाेले- नहीं चल रहा था खनन, आईपीएस ने कहा- चल रहा था काम

गाेवर्धन माइंस के पदाधिकारियाें का कहना है कि हादसे वालेदिन डाडम में खनन नहीं चल रहा था। उसी दिन खनन काे शुरू करने के आदेश दिए गए थे। तैयारी चल रही थी। इसी दाैरान हादसा हुआ। काेई लापरवाही नहीं बरती गई। पूर्व में खनन का आराेप भी गलत है। जबकि मामले की जांच कर रहे आईपीएस ने बताया कि जांच में सामने आया है कि हादसे के समय खनन चल रहा था। हालांकि, अभी कई पहलूओं पर जांच चल रही है। जांच में जाे भी बातें सामने आती है, उसी के आधार पर कार्रवाई हाेगी।

ऊपर से नीचे चलना चाहिए था कार्य

इस बारे में खनन एवं सुरक्षा विभाग गाजियाबाद के डिप्टी डायरेक्टर एके दास ने बताया कि पहाड़ पर ऊपर से नीचे की और खनन कार्य हाेना चाहिए। मगर डाडम में नीचे से ऊपर की ओर खनन कार्य की बात सामने आई है। जांच चल रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...