पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुख्य मार्गों की हालत खस्ता:शहर की सड़कों पर 5 हजार से भी ज्यादा गड्‌ढे, तीस करोड़ रुपये से होगी मरम्मत

भिवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी। बावड़ी गेट चौक पर क्षतिग्रस्त सड़क का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
भिवानी। बावड़ी गेट चौक पर क्षतिग्रस्त सड़क का फाइल फोटो।
  • वर्क अप्रूवल चंडीगढ़ भेजी, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग, एनएचएआई, हुडा व नप करवाएगा निर्माण

शहर में लगभग 30 करोड़ की लागत से सड़कों के पुन निर्माण का कार्य किया जाएगा। शहर में क्षतिग्रस्त मार्गों का निर्माण पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग के अलावा एनएचएआई, हुडा व नगरपरिषद की तरफ से करवाया जाएगा। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग ने कार्यों की अप्रूवल विभाग के पास चंडीगढ़ भेज दी है। अप्रूवल मिलते ही विभाग टेंडर जारी कर रोड निर्माण का कार्य शुरू कर देगा। इसके बाद राहगीर वाहन चालकों को सड़कों पर बने गड्‌ढों के कारण हिचकौले नहीं खाने पड़ेंगे।

6 किलो मीटर लंबे सरकुलर रोड के अलावा शहर के अंदर मुख्य मार्गों की हालत भी खस्ता है। जगह जगह सड़क मार्गों की लेवलिंग बिगड़ चुकी है, इसके अलावा अनेक मार्गों पर गड्‌ढे भी बने हुए है। इसके चलते राहगीरों को आवागमन के दौरान परेशानी उठानी पड़ रही है। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर ने शहर के क्षतिग्रस्त लगभग एक दर्जन सड़क मार्गों का निर्माण करवाने की योजना बनाई है। विधायक घनश्याम सर्राफ ने दो दिन पहले सीएम से मिलकर शहर के क्षतिग्रस्त मार्गों के निर्माण की मांग की है।

इन मार्गों का किया जाएगा निर्माण

  • हांसी गेट से देवसर चुंगी।
  • देवसर चुंगी से अनाज मंडी स्थित लोहारू रोड ओवर ब्रिज तक।
  • देवसर चुंगी से हालुवास गेट तक।
  • महम गेट से फैंसी चौक तक।
  • रोहतक गेट से फैसी चौक तक।

सेक्टर 13 व 23 की सड़कों का भी होगा निर्माण

  • बस स्टैंड से लेकर लोहारू रोड रेलवे ओवर ब्रिज तक।
  • वैश्य कॉलेज से लेकर तोशाम रोड रेलवे ओवरब्रिज तक।
  • बासिया भवन से लघु सचिवालय तक।
  • सेक्टर 13 व 23 में जर्जर हो चुकी सड़कों का भी निर्माण किया जाएगा।

ये है शहर के अंदर क्षतिग्रस्त मार्गों की हालत

  • हांसी गेट से देवसर चुंगी तक लगभग डेढ़ किलो मीटर फोर लेन मार्ग जगह जगह से टूटा हुआ है। इस मार्ग में तीन स्थानों पर लगभग 30 बाई 40 फुट लंबे-चौड़े गड्‌ढे बने हुए हैं। जिन्हें फिलहाल मिट्‌टी से ढका हुआ है। इसके अलावा इस डेढ़ किलो मीटर लंबे मार्ग पर 2 हजार से भी ज्यादा जगह से रोड की लैवलिंग बिगड़ी हुई है।
  • देवसर चुंगी से वाया लोहारू रोड रेलवे फाटक से अनाज मंडी तक मार्ग भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त है। देवसर चंुगी से रेलवे फाटक तक बने सीसी रोड की भी रोड़ियां उखड़ चुकी है और आधा किलो मीटर लंबे इस मार्ग पर लगभग 100 स्थानों पर डंप बने हुए हैं।
  • देवसर चुंगी से हालुवास गेट तक का मार्ग पूरी तरह से टूट चुका है। लगभग 500 फुट लंबा यह मार्ग 250 फुट तक सीसी का बना हुआ है लेकिन यह रोड पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका है और यह मार्ग गड्‌ढों में तब्दील हो चुका है। सड़क के इस टुकड़े में 500 से भी ज्यादा छोटे-बड़े गड्‌ढे बने हुए हैं।
  • महम गेट से फैंसी चौक तक का सीसी मार्ग भी टूट चुका है और रोड़ियां 200 से भी ज्यादा जगह से उखड़ी हुई है।
  • यही हालत रोहतक गेट से फैंसी चौक तक के मार्ग की बनी हुई है।
  • वैश्य कॉलेज से तोशाम रोड रेलवे ओवरब्रिज तक के मार्ग पर दिनभर वाहन गुजरने से धूल उड़ रही है।
  • बासिया भवन से लघु सचिवालय तक लगभग एक किलो मीटर लंबा मार्ग अरसे से क्षतिग्रस्त है। डीसी जयबीर सिंह आर्य संबंधित विभाग के अधिकारियों को कई बार मार्ग के निर्माण के आदेश दे चुके है लेकिन अभी तक मार्ग का निर्माण नहीं किया गया है।

शहर में विभाग के तहत जो मार्ग क्षतिग्रस्त है उनका निर्माण करवाया जाएगा। इस संबंध में अप्रूवल चंडीगढ़ भेज दी है। अगस्त तक मार्गों का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।''
-कृष्ण कुमार, कार्यकारी अभियंता, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर।

खबरें और भी हैं...