कोविड- 19 अपडेट:एक मीट्रिक टन कोटा बढ़ा, जिले में 170 से बढ़ाकर 300 किए जाएंगे ऑक्सीजन बेड

भिवानी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल स्थित ऑक्सीजन केंद्र का औचक निरीक्षण करते डीसी जयबीर सिंह आर्य। - Dainik Bhaskar
चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल स्थित ऑक्सीजन केंद्र का औचक निरीक्षण करते डीसी जयबीर सिंह आर्य।
  • डीसी ने ऑक्सीजन एजेंसी और अस्पताल में ऑक्सीजन स्टोर में किया व्यवस्थाओं का निरीक्षण
  • जिले में 8 और कोरोना संक्रमितों की मौत, 207 नए मरीज भी मिले

प्रशासन जिले में कोविड संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन बेड की संख्या 170 से बढ़ाकर 300 करेगा। साथ ही ऑक्सीजन का कोटा 2.5 से बढ़ाकर 3.5 मीट्रिक टन किया जाएगा। डीसी ने गुरुवार को ऑक्सीजन एजेंसी व सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन केंद्र का निरीक्षण कर ऑक्सीजन की स्थिति का जायजा लिया और संबंधित अधिकारियों व एजेंसी संचालक को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

जिले में पिछले पांच दिनों से 1200 से ज्यादा नए संक्रमित मरीज मिल चुके हैं, जबकि 30 से ज्यादा संक्रमितों की मौत हो गई। हर रोज 200 से 450 नए मरीज मिल रहे हैं। जबकि जिले में अभी तक ऑक्सीजन बेड की संख्या लगभग 170 है। बढ़ते संक्रमण के चलते प्रशासन ने जिले में ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाए जाने का निर्णय लिया है। अगले कुछ दिन में प्रशासन सिविल अस्पताल के अलावा प्राइवेट अस्पतालों में भी बेड की संख्या बढ़ाकर 300 करेगा।

इसी के संबंध में गुरुवार को डीसी जयबीर सिंह आर्य खरकड़ी रोड स्थित नरेंद्र ऑक्सीजन एजेंसी में पहुंचे और ऑक्सीजन स्टोरेज की स्थिति का निरीक्षण किया। इसके बाद डीसी सिविल अस्पताल में एसपी अजीत सिंह के साथ पहुंचे और ऑक्सीजन स्टोरेज का निरीक्षण कर चिकित्सकों से ऑक्सीजन की उपलब्धता व खपत के बारे में पूछताछ की।

इसके बाद डीसी ने लघु सचिवालय में कोविड-19 के समुचित प्रबंधों को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में एसपी अजीत सिंह, एडीसी राहुल नरवाल, एसडीएम महेश कुमार, मनीष कुमार फौगाट, नगराधीश हरबीर सिंह, भाजपा के जिला प्रधान शंकर धूपड़, आरएसएस से प्रदीप कुमार आदि मौजूद थे। जिले में गुरुवार को कोरोना संक्रमित 8 मरीजों की मौत हो गई, जबकि 207 नए संक्रमित मिले। राहत की बात यह है कि संक्रमित 321 मरीज और ठीक हुए। जिले में कोरोना एक्टिव 1358 मरीज है। विभाग की तरफ से संक्रमण की रोकथाम के लिए सैंपलिंग व वैक्सीन अभियान जारी है।

जिले में संक्रमण लगातार जानलेवा बना हुआ है। पिछले पांच दिन में जिले में 32 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। जबकि 1200 से ज्यादा नए मरीज मिले है। बढ़ते संक्रमण के चलते विभाग ने सैंपलिंग का कार्य तेज कर दिया है। गुरुवार को 1520 लोगों के सैंपल लिए गए है। विभाग अभी तक 245358 लोगों के सैंपल ले चुका है। जिनमें से 9769 लोगों रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इनमें से 8200 मरीज अभी तक स्वस्थ्य हो चुके हैं, जबकि जिले में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 211 हो गई है।

ये दिए आदेश

  • स्वास्थ्य विभाग के फील्ड में कार्यरत चिकित्सकों की ड्यूटी कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित रोगियों के उपचार के लिए लगाई जाएगी।
  • चिकित्सकों को निर्देश दिए कि कोविड-19 की हैल्पलाइन लगातार चालू रहनी चाहिए।
  • निजी अस्पतालों में संक्रमण से जुड़ी सभी प्रकार की दवाइयों के रेटों की सूची अस्पताल परिसरों में चस्पा करने के निर्देश दिए गए हैं।
  • संक्रमण से प्रभावित मरीजों के लिए मोबाइल वैन के माध्यम से ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी।
  • संक्रमित होम आइसोलेट मरीजों के घरों पर कोरोना किट(दवाईयां) समय पर पहुंचाना सुनिश्चित करें। किट में ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर के साथ आवश्यक दवाइयां व आयुष विभाग द्वारा तैयार किए गए इम्यून बूस्टर काढ़े के पैकेट हों।
  • आयुष विभाग के चिकित्सकों को कोविड-19 के दृष्टिगत लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए है।
  • दुकानदार अपनी दुकानों के सामने ग्राहकों की भीड़ एकत्रित न होने दें। दुकानदार दुकानों में मास्क व सैनिटाइजर रखें।
  • एक मई से 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों को कोविड वैक्सीन देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
खबरें और भी हैं...