मांग / शारीरिक शिक्षकों ने जेजेपी विधायक नैना चौटाला का जलाया पुतला, रोष

X

  • चेताया: शिक्षकों की सेवा बहाल नहीं की तो बड़ा आंदोलन करने पर हाेंगें मजबूर

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

भिवानी. हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के तत्वावधान में शारीरिक शिक्षकों ने जेजेपी विधायक नैना चौटाला का हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम का विरोध करते हुए पुतला जलाया। दिलबाग जांगड़ा ने बताया कि सत्ता में आने से पहले सरकार ने सबका साथ-सबका विकास व हरी चुनरी चौपाल के माध्यम से महिलाओं को मान-सम्मान दिलाने की बात कही गई थी। वर्ष 2010 में लगे 1983 पीटीआई अध्यापकों में बहुत-सी महिलाएं अध्यापक हैं।

साेमवार के क्रमिक अनशन में ब्लॉक बवानीखेड़ा से नरेंद्र शर्मा, मनोहर लाल, कृष्ण यादव बोहल, सुमित सैनी अनशन पर बैठे। मंच संचालन करते हुए बलजीत तालू व मंजीत ग्रेवाल ने बताया कि हरियाणा सरकार सभी 1983 पीटीआई को अपनी विधेयक शक्तियों का प्रयोग करके शारीरिक शिक्षकों को रोजगार वापस देने का काम कर सकती है। अनेकों उदाहरण ऐसे हैं जो सुप्रीम कोर्ट के फैसले कर्मचारियों के विरूद्ध आने के बाद हरियाणा सरकार ने अपनी विधेयक शक्तियों का प्रयोग करते हुए उनकी सेवाएं जारी रखी हैं।

राजेश ढांडा, बलवान डीपी, राजपाल तंवर, विरेन्द्र घणघस, अनिल, विनोद पिंकू, जरनेल पीटीआई आदि ने कहते हुए हरियाणा सरकार को चेताया की अगर 1983 शारीरिक शिक्षकों की सेवा बहाल नहीं की जाती है तो समिति पूरे प्रदेश में जिलों के पदाधिकारियों से विचार विमर्श करके बड़ा आंदोलन करने पर मजबूर होगी। मौके पर राजेश श्योराण लोहारू, सुरेंद्र, पवन टिटाणी, विनोद सांगा, प्रमोद जांगड़ा, मुकेश परमार, वीरभान मुआल, बिजेन्द्र कैरू, धर्मेंद्र, प्रकाश, प्रवीण कुमारी, सावित्री आदि शारीरिक शिक्षक उपस्थित थे।

 धरना प्रदर्शन में कांग्रेस नेता अमर सिंह हालुवास, कांग्रेस नेत्री निर्मल नूनिया, बवानीखेड़ा ब्लॉक समिति के पूर्व चेयरमैन राजकुमार सारसर, सरपंच राजपाल सिंह दिनोद, सरपंच निशा देवी ढाणी खुशहाल, पूर्व एमसी भीम सिंह, आदर्श ब्राह्मण सभा के उपाध्यक्ष सुरेश शर्मा, अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष आरके शर्मा व अनेक संगठन नेताओं ने बर्खास्त कर्मचारियों की बहाली की मांग करते हुए अपना समर्थन दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना