उच्च् स्तर पर पहुंचा प्रदूषण:दाे दिन के बाद भी रेड जाेन में रहा पॉल्यूशन लेवल, एक्यूआई 383

भिवानी24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. रेलवे राेड पर दाेपहर के समय अासमान में फैला स्माॅग। - Dainik Bhaskar
भिवानी. रेलवे राेड पर दाेपहर के समय अासमान में फैला स्माॅग।
  • लोगों को सांस लेने में तक्लीफ के साथ हो रही आंखों व गले में जलन

प्रतिबंध के बावजूद भिवानी जिले, दिल्ली-एनसीआर में जमकर पटाखे चलाने और पड़ोसी राज्यों में पराली जलने का असर दीपावली के दाे दिन बाद यानि शनिवार काे भी देखा गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार शनिवार दोपहर तीन बजे बाद एयर क्वालिटी इंडेक्स 383 पहुंच गया। दिवाली पर आतिशबाजी के चलते प्रदूषण का स्तर बढ़ा है। 300 से ज्यादा प्रदूषण का स्तर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। बरसात हाेने या तापमान में बढ़ोतरी हाेने पर ही यह स्माॅग की चादर छंटने की उम्मीद है। प्रदूषित हवा के चलते भिवानी शहर सहित कई हिस्सों में लोगों को गले में जलन और आंखों में पानी आने की दिक्कतों से जूझना पड़ा। वायु गुणवत्ता सूचकांक बढ़ने से पैदल यात्रियों व दाे पहिया वाहन सवाराें को मुश्किल का सामना करना पड़ा। विशेषज्ञों के अनुसार हवा न चलने, कम तापमान, पटाखों और पराली तथा स्थानीय स्रोतों के कारण वायु गुणवत्ता सूचकांक रेड जाेन श्रेणी में पहुंचा है। शनिवार को अधिकतम तापमान 28 डिग्री व न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

धुंए से वातावरण बना जहरीली गैसों का चैंबर

आतिशबाजी के धुंए से सल्फर डाइऑक्साइड, कार्बन माेनाेऑक्साइड, कार्बनडाइ ऑक्साइड जैसी गैसें वातावरण में मिल जाती है। तापमान कम होने से यह धुंआ नमी से मिलकर स्माॅग बना देता है। धुंए से निकलने वाले सस्पेंडेड पार्टिकल कम टैम्परेचर के चलते ऊपर नहीं उठ पाते। ट्रैफिक बढ़ने से गाड़ियाें का धुआं और वेस्ट जलाने से भी हवा में पीएम फैक्टर बढ़ रहा है जिससे वातावरण में जहरीला चैंबर बना है।

प्रदूषित हवा से एलर्जी व सांस की दिक्कत

हवा में पीएम 2.5 फैक्टर बढ़ता है ताे एलर्जी व सांस की दिक्कत बढ़ने लगती है। एक्यूआई लेवल खराब है इसलिए सांस के मरीजाें के लिए यह जरूरी है कि चार-पांच दिन तक मॉर्निंग वाॅक बंद कर दें। प्रदूषित हवा से आंखों में जलन और सूखी खांसी की दिक्कत आ सकती है। जिन लाेगाें काे सीजनल दमा है उनकाे आती-जाती ठंड और ऐसे माैसम में समस्या रह सकती है।

खबरें और भी हैं...