पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जलभराव की समस्या की आशंका:15 जून के बाद कभी भी दस्तक दे सकता है प्री मानसून, गंदगी से अटे हैं शहर के नाले

भिवानी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. सरकुलर रोड पर कमला नगर के पास नाले 
से कचरा निकालते मजदूर। - Dainik Bhaskar
भिवानी. सरकुलर रोड पर कमला नगर के पास नाले से कचरा निकालते मजदूर।
  • 30 से पहले सभी नालों की सफाई का काम होना मुश्किल
  • शहर के 15 मुख्य नालों में से 12 नप के अधीन

सरकुलर रोड पर बरसाती व अन्य नाले अभी भी गंदगी से अटे हुए हैं। इन हालातों में बारिश के दिनों में जलभराव की समस्या से इंकार नहीं किया जा सकता। हालांकि सरकुलर रोड पर नालों की सफाई का काम जारी है जो बेहद धीमी गति से चल रहा है।

मौसम विभाग की मानें तो 15 जून के बाद कभी भी प्री मानसून दस्तक दे सकता है, लेकिन जिस तरह से नालों की सफाई का कार्य चल रहा है उससे नहीं लगता यह सफाई का कार्य 30 जून तक भी पूरा हो जाएगा। बरसाती पानी की निकासी के लिए शहर में मुख्य 15 नाले हैं, जिनमें अधिकांश नगर परिषद के अधीन है।

सफाई समेत सभी परियोजनाओं को 15 जून तक पूरा करने के हैं आदेश

डीसी जयबीर सिंह आर्य ने एक सप्ताह पूर्व रविवार को कैंप ऑफिस में अधिकारियों को बैठक में बाढ़ नियंत्रण के सभी प्रबंधों को समय रहते पूरा करने के निर्देश दिए थे। डीसी ने स्वयं राजस्व, सिंचाई, जनस्वास्थ्य एवं नगर परिषद के अधिकारियों के साथ शहर एवं जिला में स्थित दर्जनभर स्थानों से गुजर रही ड्रेनों तथा पानी निकासी के लिए स्थापित किए गए पंप सेटों का निरीक्षण किया था। उन्होंने निरीक्षण कर बाढ़ नियंत्रण के लिए बनाई गई सफाई आदि सभी परियोजनाओं को 15 जून तक पूरा किए जाने बारे आदेश दिए थे।

जिले में पानी निकासी के लिए हैं 15 लिंक ड्रेन

सिंचाई विभाग के अंतर्गत भिवानी जिले में पानी की निकासी के लिए 15 लिंक ड्रेन हैं। सभी ड्रेनों का लिंक भिवानी घग्घर ड्रेन से है। विभाग के 131 पंप सेट भी हैं। भिवानी शहर के बरसाती पानी व सीवरेज की निकासी के लिए नगर परिषद द्वारा 28 हजार फुट, जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा 26 हजार फुट तथा लोक निर्माण विभाग द्वारा 15 हजार फुट के नालों का निर्माण किया गया है।

इसके अतिरिक्त जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा छह डिस्पोजल बनाए गए हैं, जिससे शहर का बरसाती पानी लिफ्ट करके भिवानी घग्घर ड्रेन में डाला जाता है। इसके अलावा शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में सीवरेज लाइन एवं मैनहोल को बरसात से पहले सफाई करवाने का कार्य किया जा रहा है। बरसाती पानी की निकासी के लिए 10 इंजन व मोटर पंप की व्यवस्था की गई है।

जानिए क्यों देरी से शुरू हुआ नालों की सफाई का काम

शहर के 12 नाले नप के अधीन है। नालों की सफाई के लिए शनिवार से ही कार्य शुरू किया है। लगभग 12 नालों की सफाई के लिए 30 जून तक का समय लग सकता है। इस संबंध में सेनिटरी इंस्पेक्टर विकास ने बताया कि पहले नालों की सफाई का टेंडर लगाया था, उसमें कोई भी पार्टी नहीं पहुंची। पुनः टेंडर लगाया गया, जिसके बाद शनिवार को ही सफाई का कार्य कार्य शुरू किया गया है। इस कार्य में को पूरा होने में 15 से 20 दिन का समय लगेगा। सफाई कार्य में लगभग दो दर्जन मजदूर लगे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...