पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन:काेराेना से बचाव के लिए पर्याप्त साधन मुहैया करवाए और आंदोलन का समाधान बातचीत से निकाले सरकार

भिवानी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिवानी. कितलाना टोल पर जारी अनिश्चितकालीन धरने पर गणमान्य लोगों को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर का चित्र भेंटकर सम्मानित किया गया। - Dainik Bhaskar
भिवानी. कितलाना टोल पर जारी अनिश्चितकालीन धरने पर गणमान्य लोगों को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर का चित्र भेंटकर सम्मानित किया गया।
  • कितलाना टोल पर किसान नेता बाेले- पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को जनता ने दिखाया आइना

पश्चिम बंगाल के चुनाव को अपनी प्रतिष्ठा का सवाल बना चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को किसानों और मजदूरों की एकजुटता ने आइना दिखा दिया है।

यह बात वक्ताओं ने संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर कितलाना टोल पर चल रहे किसानों के अनिश्चितकालीन धरने को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि अब भी समय है कि मोदी कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों के साथ लंबे समय से तीन काले कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे देश के करोड़ों किसान-मजदूर की बात सुन उसका समाधान करें।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की बहादुर जनता ने प्रधानमंत्री का घमंड चूर-चूर कर दिया है। उनके अनुसार ये किसानों और मजदूरों की जीत है। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं के प्रचार ने भाजपा की कमर तोड़ने का काम किया। इससे किसान-मजदूर दुगुनी ताकत से अपने आंदोलन को तेज करेंगे। कितलाना टोल पर 129वें दिन धरने की खाप सांगवान 40 के सचिव नरसिंह डीपीई, श्योराण

खाप 25 के प्रधान बिजेंद्र बेरला, रणधीर कुंगड़, धर्मबीर समसपुर, सुभाष यादव, सुमित्रा देवी, रेणु देवी, बाला देवी ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि सरकार को कोरोना के इलाज के लिए दर-दर भटक रहे मरीजों की और विशेष ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन और एंटीवायरल दवाई तुरंत मरीजों को उपलब्ध कराने की सख्त जरूरत है जिसके लिए लोग परेशान हैं।

बहुजन महापंचायत की ओर से सुरेन्द्र अजीतपुर ने विभिन्न गणमान्य लोगों को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर का चित्र भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर सूरजभान सांगवान, प्रो. राजेन्द्र, बिल्लू अधिवक्ता, खुशीराम एडवोकेट, प्रेम सिंह, कप्तान रामफल, देशराम, जगदीप, जगदीश, बलजीत, सुरेश आदि मौजूद थे।

गिरफ्तार किए गए किसानों पर दर्ज मामले रद्द किए जाएं

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के भिवानी के सामान्य अस्पताल में आगमन के दौरान तीन काले कानूनों के विरोध में किसानों द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन में भाग ले रहे पुरुष व महिला किसानों पर लाठी चार्ज करना व जबरदस्ती उठाकर उन्हें गिरफ्तार करना निंदनीय है। यह बात जाटू खाप 84 के किसान आंदोलन के कार्यवाहक प्रधान रोहताश पहलवान ने सरकार के आदेश पर पुलिस प्रशासन द्वारा महिला व पुरुष किसानों पर किए गए हमले की निंदा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सरकार एक तरफ तो बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा दे रही है वहीं दूसरी तरफ अपने अधिकारों के लिए आंदोलन में भाग ले रही महिला किसानों व किसानों की बेटियों पर लाठियां बरसा रही हैं।

उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की कि विरोध प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार की गई महिलाओं, छात्राओं, किसान नेताओं व अन्य किसानों को तुरंत प्रभाव से रिहा करें और उन पर दर्ज किए गए मुकदमों को खारिज करे अन्यथा वे जन आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा ने जिला प्रशासन के माध्यम से सीएम को सौंपा ज्ञापन

संयुक्त किसान मोर्चा भिवानी-दादरी कमेटी ने जिला प्रशासन के माध्यम से मुख्यमंत्री मनाेहर लाल के नाम मांगाें काे लेकर एक ज्ञापन दिया। उन्हाेंने मांग की है कि कोविड की दूसरी लहर का मुकाबला करने के लिए सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड, ऑक्सीजन, दवाइयां, वेंटिलेटर, डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध करवाया जाए। मोर्चे की ओर से मा. शेर सिंह, कामरेड ओम प्रकाश, अनिल शेषमा, अनिल कुमार, ओम प्रकाश सैनी ने कहा कि राज्य सरकार व प्रशासन पीड़ित लोगों की मदद नहीं कर पा रहे हैं।

उन्हाेंने बताया कि सरकारी अस्पताल ने पीड़ित मरीजों को दाखिल करने से मना कर दिए है और प्राइवेट अस्पतालों में भी जीवन रक्षक उपकरणों का भारी अभाव है। सरकार ने लोगों को अपने-अपने हाल पर छोड़ दिया है, जो गंभीर मसला है। उन्होंने ज्ञापन में एक तरफ बीमारी से लड़ने के लिए पर्याप्त साधन मुहैया कराने की मांग की है वहीं किसान आंदोलन का समाधान बातचीत से निकलवाने की मांग की है।

उन्हाेंने दर्ज मुकदमे रद्द करने की मांग की है, पांच महीने से ज्यादा समय बीतने के बाद भी केंद्र सरकार किसान आंदोलन की उपेक्षा कर रही है। इसलिए मुख्यमंत्री अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके केंद्र सरकार पर दबाव डालकर किसानों की मांगों का समाधान निकलवाएं। कोविड संकट और बीमारी की हालात को देखते हुए संयुक्त किसान मोर्चा ने कोविड प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर शांतिपूर्ण तरीके से अपना ज्ञापन दिया है ताकि बीमारी का फैलाव न हो सके।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें