• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Bhiwani
  • Registration Of Vehicles Stopped Due To Non updating Of Online Norms, People Are Cutting The Rounds Of Chandigarh; Vehicles Not Getting Named Even After Going To Chandigarh Office

आरटीए विभाग की लापरवाही का खामियाजा उठा रहे लाेग:ऑनलाइन नॉर्म अपडेट नहीं हाेने से रुका वाहनों का रजिस्ट्रेशन, लोग काट रहे चंडीगढ़ के चक्कर; चंडीगढ़ कार्यालय जाकर भी नाम नहीं हो रहीं गाड़ियां

भिवानी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आरटीए विभाग की लापरवाही से गाडियों के नॉर्म अपडेट नहीं हाे पा रहे हैं, इससे मालिकों के नाम गाडियों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया रुक गई है और पुरानी गाड़ी के खरीददार कभी भिवानी आरटीए ऑफिस ताे कभी चंडीगढ़ के चक्कर लगा रहे हैं। जब काेई व्यक्ति कहीं से और किसी की गाड़ी खरीदता है ताे वह एनओसी लेकर जब फाइल तैयार कर आरटीए ऑफिस में पहुंचता है ताे उसे कहा जाता है गाड़ी खरीदने से संबंधित नॉर्म अपडेट नहीं है।

बता दें कि ऑनलाइन नार्म अपडेट नहीं हाे रहे हैं। यह कार्य चंडीगढ़ ऑफिस में ही हाेगा। उनके पास नॉर्म अपडेट के संबंध में अभी पत्र नहीं आया है। जब व्यक्ति चंडीगढ़ हैड ऑफिस में नॉर्म पूरे करवाने के लिए पहुंचता है ताे उसे बताया जाता है कि अब जिला स्तर पर ही नॉर्म अपडेट हाेंगे, वहीं जाकर अपडेट करवाएं।

जब व्यक्ति चंडीगढ़ से वापस भिवानी आरटीए ऑफिस पहुंचता है ताे उसे बताया जाता है कि उनके पास अभी पत्र नहीं आया है। जब तक पत्र नहीं आएगा तक वे गाड़ी के नॉर्म अपडेट नहीं कर सकते हैं। इसके चलते गाड़ी खरीदने वालाें काे परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

गांव बिठन निवासी पूर्व सरपंच बलजीत ने बताया कि उन्होंने अंबाला से एक व्यक्ति से फरवरी में माॅडल नंबर 2013 महेंद्रा पिकअप गाड़ी खरीदी थी लेकिन गाड़ी की आरसी अभी तक नहीं बनी है, जबकि वह भिवानी आरटीए ऑफिस से लेकर चंडीगढ़ तक चक्कर लगा चुका है।

अंबाला से उन्हें गाड़ी की एनओसी मिल चुकी है गाड़ी की आरसी उनके नाम नहीं बन पा रही है। जबकि रजिस्ट्रेशन से संबंधित सभी कागजात वह आरटीए ऑफिस में जमा करवा चुका है। उन्हें बताया जा रहा है चंडीगढ़ में ही गाड़ी के ऑनलाइन नॉर्म पूरे हाेंगे। वह चंडीगढ़ कार्यालय में पहुंचा ताे उसे बताया गया कि अब जिलास्तर पर ही नार्म पूरे किए जा सकेंगे। पिछले आठ महीने से उसे परेशानी हाे रही है। इस तरह की समस्या जिले में अनेक लाेगाें के सामने बनी हुई है।

नहीं बन रहीं आरसी, बैरंग लौट रहे लोग
लाेग किसी से गाड़ी खरीदते और उससे एनओसी लेते हैं, लेकिन जब वे गाड़ी की आरसी अपने नाम बनवाने के लिए जरूरी फाइल लेकर आरटीए ऑफिस में पहुंचते हैं ताे उनके नाम वाहन की आरसी विभागीय लापरवाही के कारण नहीं बन पा रही है। विभाग के पास प्रति माह 24 से भी ज्यादा लाेग वाहन आरसी बनवाने के लिए पहुंच रहे हैं, लेकिन उन्हें खाली हाथ जाना पड़ रहा है।

विभाग से पत्र मिलते ही अपडेट कर देंगे नॉर्म
आरटीए अंग्रेज सिंह ने बताया कि जरूरी कागजात जमा करवाने के बाद ऑनलाइन गाड़ी के नॉर्म पूरे किए जाते हैं। आरसी में वाहन के बीएस-4, बीएस-6 आदि काे दर्ज किया जाता है। यह कार्य चंडीगढ़ कार्यालय से अपडेट हाेता है। जिलास्तर पर इस कार्य की प्रक्रिया चल रही है, लेकिन विभाग की तरफ से उन्हें पत्र नहीं मिला है। जब पत्र मिल जाएगा ताे वे यहीं पर वाहन मालिकाें के वाहनाें के नॉर्म ऑनलाइन अपडेट कर देंगे।

खबरें और भी हैं...