• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Bhiwani
  • The Message Of Mutual Brotherhood Was Given By Lighting A Lamp In The Name Of The Farmers, The Farmers Were Standing On The Kitlana Toll Dharna On The Festival Of Deepawali.

संयुक्त किसान मोर्चा:किसानों के नाम दीप जलाकर दिया आपसी भाईचारे का संदेश, दीपावली पर्व पर कितलाना टोल धरने पर डटे रहे किसान

भिवानी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कितलाना टाेल पर जारी किसानाें के अनिश्चितकालीन धरने पर माैजूद किसान। - Dainik Bhaskar
कितलाना टाेल पर जारी किसानाें के अनिश्चितकालीन धरने पर माैजूद किसान।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने कितलाना टोल पर लगातार चलाए जा रहे धरने पर ही दीप जलाकर 36 बिरादरी भाईचारे का संदेश दिया। वक्ताओं ने एक स्वर से केन्द्र की मोदी सरकार को ललकारते हुए कहा कि जैसे राम ने रावण को हराकर उसका घमंड चकनाचूर कर दिया था वैसे ही किसान मोदी सरकार के अहम को खत्म कर देंगे जो किसानों की वाजिब मांगों को सुनने के लिए तैयार नहीं है।

सांगवान खाप 40 के सचिव नरसिंह सांगवान डीपीई ने कितलाना टोल धरने पर कहा कि नारनौंद में किसानों के शान्तिपूर्ण प्रदर्शन पर पुलिस द्वारा बर्बर लाठीचार्ज ने सरकार का घिनौना चेहरा एक बार फिर से उजागर कर दिया है।

उन्होंने इस घटनाक्रम की निंदा करते हुए गिरफ्तार किसानों को तुरन्त रिहा कर घायलों का इलाज करवाने एवं दोषी पुलिस अधिकारियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग की है। चौ. छोटूराम डाॅ. अम्बेडकर मंच के जिला सह संयोजक बलबीर सिंह बजाड़ ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकारें बड़े कारपोरेट घरानों के चुंगल में फंसकर किसान मजदूरों एवं आम जनता के हितों की अनदेखी कर रही है। उन्‍हें महंगाई, बेरोजगारी, अनपढ़ता व गरीबी के चुंगल में फंसाए रखना चाहती है। सब मिलकर अगर आवाज उठाते हैं तो उनको जाति धर्म में बांटकर अलग थलग कर दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि सरकारों की इन कुचालों को समझ कर मुकाबला करें। कितलाना टोल पर धरने के 315वें दिन सांगवान खाप से नरसिंह सांगवान डीपीई, सर्वजातीय श्योराण खाप से 25 बिजेंद्र बेरला, किसान सभा रणधीर कुंगड़, किसान नेता गंगाराम स्योराण, बलबीर सिंह बजाड़, मा. राजसिंह जताई, मीरसिंह नीमड़ीवाली, महिला नेत्री राजबाला व प्रेम कितलाना ने संयुक्त रूप अध्यक्षता की। मंच संचालन किसान सभा के कामरेड ओमप्रकाश ने किया। इस अवसर पर मा. ताराचंद चरखी, सूरजभान सांगवान, सुरेन्द्र कुब्जानगर, जगदीश हुई, मा. कर्णसिंह श्याेराण, सूबेदार सतबीर सिंह, समुंद्र सिंह धायल, नरेन्द्र धनाना आदि माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...