पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुहिम पर ब्रेक:जिले में वैक्सीन का स्टाॅक खत्म, सिविल अस्पताल के सेंटर का गेट करना पड़ा बंद, शिविर भी कैंसिल

भिवानी24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वार रूम में वैक्सीनेशन बारे पूछताछ करते नागरिक। - Dainik Bhaskar
वार रूम में वैक्सीनेशन बारे पूछताछ करते नागरिक।
  • जुलाई में जिले में 5 लाख 43 हजार लोगों के वैक्सीनेशन का है टारगेट
  • रोजाना 19350 लोगों काे वैक्सीन लगाने के लक्ष्य में पिछड़ा स्वास्थ्य विभाग, एक हजार लोग बिना टीका लगवाए लौटे

स्वास्थ्य विभाग का जिले में प्रतिदिन 19350 बेनीफिशियरी काे वैक्सीन डाेज लगाने का लक्ष्य बुधवार काे उस समय पूरी तरह से फेल हाे गया जब विभाग के पास वैक्सीन का स्टाॅक ही खत्म हाे गया। इसके कारण विभाग ने सिविल अस्पताल के वार रूम में बनाए गए वैक्सीनेशन केंद्र का मेन गेट ही बंद कर सिक्योरिटी गार्ड काे खड़ा करना पड़ा। इसके कारण बुधवार काे लगभग एक हजार लाेगाें काे बिना वैक्सीन के ही घर लाैटना पड़ा।

स्वास्थ्य विभाग जिले में अभी तक 3 तीन लाख 35 हजार 321 लाेगाें काे वैक्सीन की पहली व दूसरी डाेज दे चुका है और जुलाई में विभाग काे जिले में 5 लाख 43 हजार लोगों के वैक्सीनेशन का टारगेट दिया है, लेकिन बुधवार काे विभाग के पास वैक्सीन डाेज ही खत्म हाेने से सिविल अस्पताल में बने वैक्सीनेशन सेंटर के गेट काे ही बंद करना पड़ा ताकि काेई भी नया बेनीफिशियरी टीकाकरण के लिए सेंटर में प्रवेश न कर सके। इसके लिए बाकायदा सेंटर के गेट पर सिक्योरिटी गार्ड की भी तैनाती की कर दी गई।

बुधवार काे केवल काे-वैक्सीन की दूसरी डाेज लगवाने वालाें काे ही वैक्सीन दी जा सकी है। क्योंकि विभाग के पास केवल काे-वैक्सीन की दूसरी डाेज लगवाने वालाें के लिए ही 3850 वैक्सीन का स्टाॅक है। नए बेनीफिशियरी के लिए काेविशील्ड व काे-वैक्सीन का स्टाॅक पूरी तरह से खत्म हाे चुका है। इसके अलावा काेविशील्ड की दूसरी डाेज लगवाने वालाें के लिए भी वैक्सीन का स्टाॅक खत्म हाे चुका है। स्वास्थ्य विभाग के पास केवल काे-वैक्सीन की 3850 डाेज का ही स्टाॅक है।

यूं तो टारगेट पूरा होना मुश्किल

स्वास्थ्य विभाग के स्टाॅक में वैक्सीन का स्टाॅक लगभग खत्म हाे चुका है। ऐसे हालाताें में विभाग के लिए मात्र 24 दिन में 2 लाख 7 हजार 679 बेनीफिशियरी काे वैक्सीन देने का लक्ष्य हासिल करना बेहद मुश्किल हाेगा। प्रशासन ने विभाग काे प्रतिदिन काे 19350 लाेगाें काे प्रतिदिन वैक्सीन देने का टारगेट दे रखा है। अगर अगले एक-दाे में वैक्सीन का स्टाॅक नहीं पहुंचा ताे विभाग किसी भी हालत में वैक्सीन के टारगेट काे हासिल नहीं कर पाएगा।

ये कहना है बेनीफिशियरी का

वैक्सीन लगवाने के लिए सिविल अस्पताल स्थित वैक्सीन सेंटर पर पहुंचे विरेंद्र कुमार, रणवीर सिंह, गुलाब, सुमन आदि ने बताया कि वह काेविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डाेज लगवाने के लिए केंद्र पर आए है लेकिन गेट बंद है और सिक्योरिटी गार्ड कह रहा है कि वैक्सीन खत्म हाे चुकी है अगले सप्ताह पता करना। उन्हीं लाेगाें के लिए वैक्सीन का स्टाॅक है जाे काे-वैक्सीन की दूसरी डाेज लेना चाहते हैं। सुरेश, राकेश, मनोज ने बताया कि वह पहली डाेज के लिए आए हैं, लेकिन स्टॉक खत्म हो गया है।

जानें... आज कहां लगना था कैंप

हनुमान जोहड़ी मंदिर धाम में 8 जुलाई को वैक्सीनेशन कैंप लगना था। वैक्सीन न होने के कारण यह कैंप स्थगित किया है। महंत चरणदास महाराज के सानिध्य में जोहड़ी वाले हनुमान मंदिर हनुमान ढाणी में 8 जुलाई प्रात: 9 बजे से 2 बजे तक कोरोना से बचाव हेतु 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिक अपनी पहली व दूसरी वैक्सीन डोज अवश्य लगाने का कैंप रखा गया था। कैंप सहयोगी अशोक भारद्वाज ने बताया कि टीका आने के बाद कैंप की आगामी तिथि बता दी जाएगी।

ये है वैक्सीनेशन का स्टेटस

  • जिले में 18 से 44 आयु के 15 हजार बेनीफिशियरी काे ही वैक्सीन लगी है। इनमें से भी 2124 लाेगाें काे ही अभी तक दाेनाें डाेज दी गई है। इस वर्ग में 5 22,000 का टारगेट है। जो केवल 22 प्रतिशत ही हासिल हुआ है।
  • 45 से 60 आयु वर्ग के 37 प्रतिशत लोगों काे वैक्सीन दी गई है। इस वर्ग में 195800 का टारगेट है। अब तक 71000 को पहली व 11 हजार लाेगाें काे दूसरी डोज दी जा चुकी है। 82,000 को दोनों डाेज दी जा चुकी है।
  • 60 से अधिक आयु में 124000 लाेगाें काे वैक्सीन देने का टारगेट है। इनमें से 77000 यानी कि 65 प्रतिशत को पहली व 22000 को दूसरी डोज दी जा चुकी है।

फिलहाल विभाग के पास दूसरी डाेज के लिए काे-वैक्सीन की 3850 डाेज का ही स्टाॅक है। शेष वैक्सीन खत्म हाे चुकी हैं। आगे से ही वैक्सीन नहीं आ रही है। वैक्सीन स्टाॅक मिलते ही टीकाकरण अभियान काे तेज कर दिया जाएगा।'' -डाॅ. राजेश, कोऑर्डिनेटर, काेविड-19

खबरें और भी हैं...