काले कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रोटेस्ट:एकजुट हो करेंगे सरकार के हमलों का सामना: किसान

भिवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कितलाना टोल पर बेमियादी धरने पर माैजूद किसान व अन्य। - Dainik Bhaskar
कितलाना टोल पर बेमियादी धरने पर माैजूद किसान व अन्य।
  • जेजेपी नेता अजय सिंह चौटाला का आज दादरी पहुंचने पर किया जाएगा विरोध

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर तीनों कृषि विरोधी काले कानूनों को रद्द करवाने तथा एमएसपी की संवैधानिक गांरटी लागू करवाने वास्ते चल रहा किसान आंदाेलन एक ऐतिहासिक व्यापक जन आन्दोलन बन चुका है। आज जब भाजपा सरकारों ने सभी जातियों के कमेरे वर्ग पर हमला किया है तो मुकाबला भी सभी एकजुट होकर मिल जुलकर करेंगे। यह बात कितलाना टोल पर धरने को संबाेधित करते हुए किसान यूनियन पानीपत के प्रधान सुरेन्द्र सोनू मालपुरिया ने कही। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा की केन्द्र सरकार व राज्य सरकारें किसान आन्दोलन की भारी उपेक्षा कर रही है तथा इस जन आन्दोलन को सही रास्ते से भटकाकर जातिवादी हिंसा में धकेलने की नापाक कोशिश कर रही हैं।

लेकिन अब सभी लोग इनकी साजिश को बखूबी समझ गए हैं और आन्दोलन को शान्तिपूर्ण तरीके से सफलतापूर्वक चला रहे हैं। सांगवान खाप 40 के सचिव नरसिंह सांगवान डीपीई ने घोषणा करते हुए कहा कि 7 नवंबर रविवार को दादरी में जेजेपी नेता अजय सिंह चौटाला का दादरी पहुंचने पर विरोध किया जाएगा।

उन्होंने सभी खापों, किसान मजदूर संगठनों से अपील करते हुए कहा कि इस विरोध कार्यक्रम में प्रातः 10 बजे किसान-मजदूर दादरी पहुंचे। कितलाना टोल पर चल रहे धरने के 316वें दिन सांगवान खाप से नरसिंह सांगवान डीपीई, किसान सभा से रणधीर कुंगड़, युवा कल्याण संगठन से कमल प्रधान, रिटायर्ड कर्मचारी संघ से दिलबाग ढुल, चौगामा खाप से रणसिंह निमड़ीवाली, महिला नेत्री राजबाला, प्रेम शर्मा कितलाना व जाटू खाप से मा. राजसिंह जताई ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की।

मंच संचालन किसान सभा के कामरेड ओमप्रकाश ने किया। इस अवसर पर पूर्व कर्मचारी नेता फूलकुमार पेटवाड़, मा. ताराचंद चरखी कन्नी प्रधान, सूरजभान झोझू कन्नी प्रधान, सुरेन्द्र कुब्जानगर, रणधीर घिकाड़ा, बलबीर सिंह बजाड़, धर्मेंद्र छपार, रतन जिंदल, सन्तोष देशवाल, सुशीला धनाना आदि माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...