पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नए भवन का इंतजार:नांधा के राजकीय विद्यालय में 170 विद्यार्थी ठिठुरन भरी ठंड में खुले आसमान के नीचे पढ़ने को मजबूर

बाढड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4.17 करोड़ का टेंडर होने के बावजूद शुरू नहीं हुआ भवन निर्माण

नांधा के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के जर्जर भवन को शिक्षा विभाग द्वारा लगभग चार वर्ष पूर्व तोड़ने के बाद नए भवन का निर्माण कार्य शुरू करवाने के लिए 4.17 करोड़ का टेंडर होने के बावजूद निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है जिसके कारण छठी से 12वी कक्षा के बच्चों के बैठने के लिए मात्र एक कमरा है जिसमें विद्यालय प्रबंधन स्कूल रिकार्ड आफिस बनाए या 170 बच्चों को बैठाकर शिक्षित करे।

इससे विद्यार्थिर्यों को पिछले चार वर्षों से ठिठुरती हुई ठंड में खुले आसमान के नीचे बैठकर पढ़ना पड़ रहा है लेकिन शिक्षा विभाग व प्रशासन मामले में तत्परता की बजाय ढिलाई बरत रहा है। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के भवन का निर्माण वर्षों पूर्व हुआ था जो धीरे-धीरे जर्जर हो गया। इसके बाद शिक्षा विभाग ने भवन को कंडम घाेषित कर मई 2017 में तुड़वा दिया ताकि जर्जर भवन के गिरने से हादसा न हो गए।

राजकीय प्राइमरी पाठशाला के आठ कमरों में कक्षाएं चलती है लेकिन कक्षा 6 से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए मात्र एक कमरा है जिसमें विद्यालय प्रबंधन स्कूल के रिकॉर्ड व सामान को संभाल कर रखे या बच्चों को बैठाकर पढ़ाएं। इन हालातों में विद्यार्थियों को खुले आसमान के नीचे बैठाकर पढ़ाना पड़ रहा है तथा छटी से दस जमा दो कक्षा तक के विद्यार्थी को ठिठुरती हुई ठंड में जमीन पर टाट पट्टी पर बैठकर पढ़ना पड़ रहा है।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक में कक्षा प्रथम से 12वीं कक्षा तक कुल 281 बच्चे पढ़ाई करने के लिए आते हैं। कक्षा प्रथम से पांचवी कक्षा तक 111 बच्चे पढ़ाई करते हैं तथा कक्षा छठी से 12वीं कक्षा तक 170 बच्चे पढ़ाई करते हैं। कक्षा छठी से 12वीं कक्षा तक बच्चों के बैठने के लिए भवन नहीं है जिससे विद्यार्थियों को ठिठुरती हुई ठंड व गर्मी में पेड़ों की छांव में जमीन पर बैठना पड़ता है।

गांव के ग्रामीण रायसिंह, करतार, हरिराम, जयवीर आदि ने बताया कि शिक्षा विभाग ने लगभग चार वर्ष पूर्व विद्यालय के भवन को जर्जर होने के कारण तोड़ दिया। प्रदेश सरकार एक तरफ तो राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने व शिक्षा के स्तर को उच्चा उठाने के लिए बजट का बड़ा हिस्सा खर्च करती हैं लेकिन चार वर्ष तक स्कूल के नए भवन का निर्माण न होने से शिक्षा विभाग विफल नजर आ रहा है।

टेंडर हो चुका है शीघ्र शुरू होगा भवन निर्माण: बीईओ

खंड शिक्षा अधिकारी जलधीर सिंह व कनिष्ठ अभियंता जयवीर पूनिया ने बताया कि नांधा के विद्यालय के नए भवन का निर्माण के लिए विभाग द्वारा 4.17 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत हुई थी जिसके बाद निर्माण के लिए टेंडर हो चुका है। इसके लिए टेंडर लेने वाली कंपनी को निर्माण कार्य शुरू शीघ्र करवाने के लिए पत्र भेजा गया है। शीघ्र कार्य शुरू करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें