शिकायत:3 दिन पहले लापता युवती का गांव के ही तालाब में मिला शव, दुष्कर्म कर हत्या करने का लगाया आरोप

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युवती का शव मिलने के बाद रोड जाम कर रहे लोगों से मिलने पहुंचे एसपी विनोद कुमार। - Dainik Bhaskar
युवती का शव मिलने के बाद रोड जाम कर रहे लोगों से मिलने पहुंचे एसपी विनोद कुमार।
  • कार्रवाई की मांग को लेकर एनएच​​​​​​​ 148 बी पांच घंटे किया जाम, एसपी के आश्वासन पर माने परिजन

तीन दिन से लापता कबड्‌डी खिलाड़ी 16 वर्षीय युवती का गांव डाढ़ी बाना के ही तालाब से शव बरामद हुआ है। वहीं परिजनों ने युवती को लापता होने से पहले जिस लड़के के साथ देखा था उसके खिलाफ पुलिस को शिकायत भी दी हुई थी। बुधवार को शव मिलने के बाद परिजनों ने उक्त युवक पर युवती के साथ दुष्कर्म कर हत्या करने का आरोप लगाया है।

वहीं मामले में तुरंत कार्रवाई करवाने के लिए परिजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर एनएच 148 बी पर शव को रखकर जाम लगा दिया। वहीं करीब पांच घंटे जाम लगने के बाद एसपी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच करने के लिए एसआईटी गठित कर पोस्टमार्टम बोर्ड से करवाने का आश्वासन दिया। इसके बाद परिजनों ने जाम खोल दिया।

गला हुआ शव होने से नहीं दिखे चोट के निशान

लगातार तीन दिन से युवती के पिता जयप्रकाश, मां रेखा, दादा सावंत सिंह व अन्य परिजन प्रीति को जगह जगह तलाश कर रहे थे। बुधवार सुबह करीब 9 बजे कुछ ग्रामीण तालाब की तरफ से गुजर रहे थे। इसी दौरान तालाब में एक शव दिखाई दिया। पास जाकर ग्रामीणों ने देखा तो वह प्रीति का मिला। इसके बाद परिजनों व पुलिस को सूचित कर मौके पर बुलाया गया।

शिकायत देने पर भी नहीं हुई कोई कार्रवाई

परिजनों द्वारा 27 सितंबर को पुलिस शिकायत देने पर भी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हो पाई है। इसी आधार पर परिजनों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए असंतुष्टी जाहिर की। परिजनों ने कहा कि एसपी मामले में एसआईटी गठित कर जांच करवाने और बोर्ड से पोस्टमार्टम का आश्वासन नहीं दे देते जाम नहीं खोलेंगे।

इसके बाद डीएसपी बली सिंह व एसडीएम विरेंद्र सिंह भी मौके पर पीड़ितों को समझाने पहुंचे। लेकिन ग्रामीण नहीं माने। इसके बाद एसपी विनोद कुमार मौके पर पहुंचे। जिन्होंने कहा इतनी दूर आया हूं क्योंकि मुझे भी इस बेटी की मौत का दुख है। यहां सभी के सामने एक विश्वास दिलाना चाहता हूं कोई बाहर का हो या फिर घर का जो भी आरोपी है उसे छोडूंगा नहीं। इसके बाद जाम खोल दिया।

बाइक मौके पर छोड़कर फरार हुए थे दोनों

मृतका के पिता जयप्रकाश ने बताया कि 26 सितंबर की रात उनकी बेटी प्रीति खाना खाकर सो गई थी। रात करीब 1 बजे उसकी मां रेखा ने देखा तो प्रीति अपनी चारपाई पर नहीं मिली। इसके बाद जयप्रकाश व सावंत सिंह आस पड़ोस में तलाश करने के लिए निकले। वहीं नजदीक ही खेल ग्राउंड भी है।

जहां एक बुलेट बाइक खड़ी दिखाई दी। अंदर जाकर हॉल देखा तो दरवाजा अंदर से बंद था। इस दौरान जयप्रकाश ने खिड़की से देखा तो प्रीति उस वक्त गांव बलाली निवासी एक युवक के साथ थी। इन दोनों को वहां पकड़ने के लिए दोनों वापस अपने अन्य परिजनों को लेने के लिए आए।

जब सभी परिजन वहां पहुंचे तो दोनों वहां अपनी बाइक छोड़कर लापता हो चुके थे। इसके बाद परिजन बलाली पहुंचे तो वहां घर पर भी उक्त युवक नहीं मिला। 27 सितंबर की सुबह परिजनों ने उक्त युवक के खिलाफ प्रीति काे बहला फुसला कर अपने साथ भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए शिकायत झोझू कलां थाना पुलिस को दी।

शव को सड़क किनारे रखकर लगाया जाम, स्कूल बसें भी फंसी

हिसार से नारनौल तक बना एनएच 148 बी पर गांव डाढी बाना के ग्रामीणों ने बुधवार सुबह 10 बजे ही शव को सड़क किनारे रखकर जाम लगा दिया था। इस दौरान मुख्य मार्ग होने से दोनों तरफ ही वाहनों की लंबी कतार लग गई। वहीं स्कूलों की भी 2 बजे छुट्‌टी हो गई और स्कूल बसे भी जाम में फंस गई। इस कारण परिजनों को फोन कर बच्चों को जाम से ले जाने के लिए सूचित किया गया। इसके बाद परिजन ही अपने अपने वाहन लेकर पहुंचे और अपने अपने बच्चों को घर लेकर गए।

दो दिन से पुलिस कस्टडी में है युवक

जिस युवक पर आरोप लगाए जा रहे हैं। वह दो दिन से पुलिस कस्टडी में है। हम मामले की जांच करवाने के लिए एसआईटी गठित करेंगे और शव का पोस्टमार्टम बोर्ड द्वारा करवाया जाएगा। जल्द ही मौत की गुत्थी सुलझा दी जाएगी।''

-विनोद कुमार, एसपी।

खबरें और भी हैं...