पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक्शन मोड में बिजली निगम:लॉकडाउन में पहुंचा बिजली का 38 फीसदी लाइन लॉस, दो दिन में 156 चोरी पकड़ी, 61 लाख का जुर्माना लगाया

चरखी दादरी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दादरी। बिजली पॉवर हाउस। - Dainik Bhaskar
दादरी। बिजली पॉवर हाउस।

लॉकडाउन खत्म होते ही बिजली निगम एक्शन मोड में आ गया है। निगम की टीम ने छापेमारी करते हुए मात्र दो दिन में 156 बिजली चोरी पकड़ी हैं। इन सभी बिजली चोरों पर निगम की तरफ से भारी भरकंप 61 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। वहीं अकेले शहर में ही 63 चोरी पकड़ कर 33 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है।

निगम की टीम ज्यादातर छापेमारी कॉमर्शियल जगहों पर कर रही है। जहां 5 से 7 एसी लगी हुई हैं और बिजली बिल कुलर पंखे जितना आ रहा था। बिजली निगम अधिकारी ने बताया कि शहर में एक मुर्गी फार्म व ढाबे पर भी बिजली चोरी की जा रही थी। मेन लाइन की केबल छत पर ले जाकर फिर नीचे उतारी हुई थी। ऐसे में शक के आधार पर उनकी छत पर जांच की गई तो मेन लाइन से ही कुंडी लगाकर (केबल में कट मारकर) बिजली खर्च की जा रही थी।

शहर में पांच टीमें कर रही कार्रवाई

बिजली चोरी की शिकायतें ज्यादातर शहर में ही मिल रही हैं। ऐसे में निगम की पांच टीमें विशेष तौर पर शहर के अंदर बिजली चोरी पकड़ने के लिए छापेमारी करेंगी। सभी टीमों पर टारगेट कॉमर्शियल जगह हैं। शहर में जितने भी बड़े व छोटे उद्योग हैं उन पर विशेष चेकिंग की जाएगी। निगम के पांच जेई, पांच लाइनमैन, पांच फोरमैन व अन्य कर्मचारी इस छापेमारी टीम में शामिल किए गए हैं।

लॉकडाउन में छापेमारी करने नहीं जा पा रही थी टीम

कोरोना के दौरान सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया था। ऐसे में निगम की टीम भी छापेमारी करने किसी के घर नहीं जा पा रही थी। जिसका लोगों ने काफी फायदा उठाया है और बिजली चोरी के कारण निगम का लाइन लॉस बढ़कर 38 फीसदी पर पहुंच गया है। इस लाइन लोस को कम करने के लिए जैसे ही लॉकडाउन में छूट का दायरा बढ़ाया निगम ने अपनी कार्रवाई शुरु कर दी है।

कंप्रेशर चलाने के लिए सीधी मेन लाइन से जोड़ रखा था कनेक्शन

जिले में जमीनी जलस्तर काफी नीचे जा चुका है। ऐसे में पानी की कमी के चलते आरओ वाटर प्लांटों का काम जोरों पर चल रहा है। आरओ वाटर की डिमांड सबसे ज्यादा चल रही है। ऐसे में लोगों की पूर्ति करने के लिए दिन रात प्लांट चलाकर पानी फिल्टर कर उसे ठंडा किया जाता है। पानी को ठंडा करने के लिए एक प्लांट पर 5 से 7 एसी के कंप्रेशर लगे हुए हैं।

निगम की टीम ने जिले में तीन आरओ प्लांट पर छापा मारा तो वहां कंप्रेशर चलाने के लिए सीधी मेन लाइन से ही कनेक्शन जोड़ा हुआ था। उनके बिजली बिल जांचे तो पता चला कि उनके मीटर की रिडिंग अनुसार 900 से 1 हजार रुपये ही बिल आ रहा था। इसके बाद इन पर निगम ने जुर्माना लगा दिया।

जानिए... शहर व गांव में चोरी के केस व निगम द्वारा लगाया जुर्माना

  • 156 टोटल चोरी
  • 61 लाख रुपये टोटल जुर्माना
  • 63 शहर में चोरी
  • 33 लाख रुपये शहर में जुर्माना
  • 93 गांव में चोरी
  • 28 लाख रुपये गांव में जुर्माना

निगम की टीम ने दो दिन के अंदर ही छापेमारी करते हुए 156 चोरी पकड़ी हैं और चोरों पर 61 लाख रुपये जुर्माना लगाया है। अधिकारी ने कहा कि बिजली चोरी पकड़ने का अभियान जारी रखा जाएगा।'' -संदीप यादव, एक्सईएन, बिजली निगम।

खबरें और भी हैं...