कार्रवाई:सीएम फ्लाइंग, जीएसटी और आरटीए की कार्रवाई, रावलधी बाइपास पर ईंटों से भरी 13 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को किया जब्त

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरटीए विभाग के बाड़े में खड़े ईंटों से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली। - Dainik Bhaskar
आरटीए विभाग के बाड़े में खड़े ईंटों से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली।
  • ट्रैक्टर चालकों के पास ना कागजात मिले और ना ही ईंटों के पक्के बिल, ओवरलोड के साथ तोड़ रहे बाकी के नियम

रोहतक से सीएम फ्लाइंग ने दादरी की जीएसटी और आरटीए की टीम के साथ मिलकर बुधवार सुबह दिल्ली बाइपास पर ईंटों से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की। इस दौरान 13 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जब्त किया गया। इसके बाद कागजात की जांच किए जाने पर ट्रैक्टर चालक आरसी, ईंटों के पक्के बिल आदि ना मिलने पर चालान किए गए।

अलग-अलग टीमों अपने अपने हिसाब ने कागजात न मिलने पर ट्रैक्टर चालकों के चालान किए गए। ईंट-भट्‌ठा मालिकों को कार्रवाई की सूचना मिलते ही ट्रैक्टरों को भट्ठों पर राेक लिया गया। जिले के ईंट-भट्‌ठों पर अक्सर ईंटें ढोने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉलियों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

इन ट्रैक्टर चालकों के पास न तो ट्रैक्टर के पूरे कागजात होते और ना ही कॉमर्शियल कार्य में यूज करने की परमिशन। ईंटों से ओवरलोड होकर सड़कों पर दौड़ते हैं ये ट्रैक्टर-ट्रॉली। इन्हीं पर लगाम लगाने के रोहतक से सीएम फ्लाइंग की टीम ने दादरी से जीएसटी और आरटीए की टीम को साथ लेकर बुधवार सुबह रावलधी बाइपास पर जांच शुरू कर दी।

इस दौरान 13 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जब्त किया गया तथा आरटीए और जीएसटी टीम के कब्जे में जांच के लिए दे दिया गया।

जीएसटी की कर रहे थे चोरी
जांच के दौरान ट्रैक्टर चालकों के पास ईंटों के पक्के बिल भी नहीं मिले। इससे जीएसटी की चोरी और इनकम टैक्स की चोरी साफ-साफ नजर आ रही है। इसी को लेकर जीएसटी और इनकम टैक्स की टीमों ने अपने अपने हिसाब से इन ट्रैक्टर चालकों पर जुर्माना लगाया और राशि भरे जाने के बाद ही इनको छोड़ा जाएगा।

बिना कॉमर्शियल यूज की परमिशन के ही दौड़ रहे
ईंट-भट्‌ठों से ईंट ढोने वाले ट्रैक्टर चालक कॉमर्शियल कार्य में यूज करने की आरटीए विभाग से परमिशन तक नहीं लेते। जबकि परमिशन लेना बेहद ही जरूरी है। इसके अलावा ईंटें अधिक डालने की वजह से अक्सर ओवरलोड होकर सड़कों पर दौड़ते हैं। इससे हादसे होने का डर भी बना रहता है।

  • सीएम फ्लाइंग, जीएसटी और आरटीए विभाग की संयुक्त टीम ने बुधवार सुबह ईंट-भट्‌ठों से निकलने वाले ट्रैक्टरों की चेकिंग शुरू की गई। 13 ट्रैक्टर जब्त किए हैं। जिन कागजात की जांच की जानी है उनमें ट्रैक्टर-ट्रॉली का कॉमर्शियल यूज की परमिशन, ट्रैक्टर के कागजात, ईंटों का जीएसटी के साथ काटा गया पक्का बिल और ओवरलोड भी शामिल है। जैसी भी इनमें कमी पाई जाती है उसी के हिसाब से चालान किया जाएगा।'' - अनुप कुमार, सीएम फ्लाइंग इंचार्ज, रोहतक।
खबरें और भी हैं...