पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमण:20 दिन बाद रुका कोरोना से मौतों का सिलसिला, रिकवरी रेट पहुंचा 93.90 पर

चरखी दादरी23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दादरी। सिविल अस्पताल में वैक्सीन के लिए अपनी बारी का इंतजार करते लोग। - Dainik Bhaskar
दादरी। सिविल अस्पताल में वैक्सीन के लिए अपनी बारी का इंतजार करते लोग।
  • रविवार को 18 नए मरीज मिले तो 61 मरीज हुए ठीक, कोरोना पॉजिटिविटी रेट घटकर 3.66 पर आया

रविवार को जिले में करीब 20 दिन बाद कोरोना से होने वाली मौत के बढ़ते आंकड़ों पर अंकुश लगा है। वहीं रविवार को जिले में काफी समय बाद ही कोरोना संक्रमित नए मरीजों की संख्या 20 से कम मिली है। यानि रविवार का दिन जिले को काफी राहत देने आया है। क्योंकि कोरोना संक्रमित नए मरीज केवल 18 मिले हैं और एक भी मौत नहीं हुई है।

इसके साथ ही जिले में पॉजिटिविटी रेट घटकर 3.66 रह गया है और रिकवरी रेट बढ़कर 93.90 पर पहुंच गया है। वहीं रविवार को स्वास्थ्य विभाग ने सिर्फ दो सेशन लगाए हैं। इनमें सिविल अस्पताल में बनाए सेशन में 85 लोगों को और एमसीएच में बनाए सेशन के अंदर 170 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई है।

रविवार को ये मिले नए कोरोना संक्रमित मरीज : मौड़ी निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति, अटेला कलां निवासी 32 वर्षीय युवक, रूदड़ौल निवासी 72 साल की महिला और 48 साल का व्यक्ति, श्याम कलां निवासी 58 वर्षीय व्यक्ति, काकड़ौली हटठी निवासी 39 वर्षीय महिला, भांडवा निवासी 59 वर्षीय व्यक्ति, दुधवा निवासी 82 वर्षीय बुजुर्ग व्यक्ति, शहरवासी 36 वर्षीय व्यक्ति, चांगरोड निवासी 78 वर्षीय व्यक्ति, शहरवासी 32 वर्षीय युवती, सेहलंगा निवासी 21 वर्षीय युवती, बाढड़ा निवासी 38 वर्षीय महिला, शहरवासी 42 वर्षीय व्यक्ति व महेंद्रगढ़ चुंगी नजदीक निवासी 52 वर्षीय व्यक्ति रविवार को कोरोना संक्रमित मिले हैं।

ज्यादातर मरीज होम आइसोलेशन में हुए ठीक

मई महीने में ही कोरोना संक्रमित नए मरीजों की संख्या में इजाफा होना शुरू हो गया था। वहीं मई के आखिरी सप्ताह में ही संक्रमित मरीज कम और ठीक ज्यादा होने लगे हैं। मई महीने में कुल 2553 कोरोना पॉजिटिव नए मरीज मिले हैं।

वहीं इस महीने में कुल 2958 संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं। वहीं 85 पॉजिटिव मरीजों की मौत भी हुई है। इनमें से 2058 मरीज होम आइसोलेट थे और करीब 900 मरीज कोविड सेंटरों में भर्ती हुए थे। अब जिले में मात्र 178 एक्टिव केस हैं।

यानि ज्यादातर मरीज ठीक हो चुके हैं। होम आइसोलेशन मरीजों की ज्यादा संख्या में होना और ठीक भी उसी संख्या में होना प्रभावित करने वाला है। जिससे यह भी पता चलता है कि लोगों ने घर पर भी रहकर कोविड 19 नियमों की पालना की है। यहीं कारण रहा है कि होम आइसोलेशन में रहने के बावजूद मरीज रिकवर हुए हैं।

खबरें और भी हैं...