बिंदर हत्याकांड:चचेरे भाई बोला- समझौता नहीं करने पर थाने ले जाकर डंडों से पीटा

चरखी दादरी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने कहा-मारपीट की शिकायत पर राहुल को थाना लेकर आए थे

रोहतक एसटीएफ की गोली से हुई बिंदर की मौत के बाद उसके चचेरे भाई ने पुलिस पर समझौता करने का दबाव बनाने और थाने में बुलाकर पीटने के आरोप लगाए हैं। वहीं मृतक के चचेरे भाई के पैर में फ्रेक्चर भी है जो पुलिस की पीटाई से हुआ बताया जा रहा है। दूसरी तरफ पुलिस ने मामले में कहा है कि मारपीट की एक शिकायत मिली थी इसके आधार पर युवक को पुलिस थाने लेकर आई थी। थाने में आने के बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया और हमने दोनों को वहां से घर वापस भेज दिया।

7 फरवरी को एसटीएफ की गोली लगने से हुई थी बिंदर की मौत

शहरवासी बिंदर अपने दो दोस्तों के साथ 7 फरवरी की रात काले रंग की ऑल्टो में महेंद्रगढ़ चुंगी नजदीक बैठक चाय पी रहा था। इसी दौरान रोहतक एसटीएफ की टीम वहां आई और उन्होंने ऑल्टो पर पीछे से फायर कर दिया। इस घटना में पीछे बैठे बिंदर की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई।

मामले में जिला पुलिस ने एसटीएफ टीम में गोली चलाने वाले सिपाही हरेंद्र पर हत्या का केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया था। वहीं परिजन टीम में शामिल अन्य तीन पुलिस कर्मचारियों पर भी केस दर्ज करवाने की मांग पर अड़े हुए हैं।

पीसीआर में जबरन थाने ले गई पुलिस : राहुल

मृतक बिंदर का चचेरा भाई गाेशाला मोहल्ला निवासी 26 वर्षीय राहुल कुमार ने कहा कि वह शनिवार रात करीब 9 बजे रोज गार्डन सामने वीटा बूथ के नजदीक खड़ा हुआ था। वहां पीसीआर आई और पुलिस कर्मचारी उसे सिटी थाना ले गए। राहुल ने बताया कि सिटी थाना में पुलिस कर्मचारियों ने कहा कि बिंदर हत्याकांड में तू समझौता नहीं होने दे रहा है। इसके बाद पांच पुलिस कर्मचारियों ने उसे पीटा।

कोरे कागजों पर करवाया हस्ताक्षर

राहुल कुमार ने पुलिस पर आरोप लगाए हैं कि पुलिस ने उसे काफी देर तक पीटा था। इसके बाद उसने कहा था कि मैं पुलिस पर केस दर्ज करवाउंगा। ऐसे में सिटी थाना पुलिस ने राहुल के परिजनों को थाने में ही बुला लिया। इसके बाद पुलिस ने कई कोरे कागजों पर उसके हस्ताक्षर करवा लिए और उसे घर भेज दिया।

पीजीआई में करवाया एक्सरे तो निकला फ्रेक्चर

राहुल ने बताया कि वह अपने परिजनों के साथ थाने से सीधा घर चला गया था। जहां पर पैर में काफी तेज दर्द हुआ। यह देख वह तुरंत सिविल अस्पताल में उपचार करवाने पहुंच गया। जहां से उसे रोहतक रेफर कर दिया। रोहतक पीजीआई में जाते ही एक्स रे हुआ तो पता चला कि पैर में फ्रेक्चर हो गया है।

पुलिस कर्मचारियों पर केस दर्ज नहीं हुआ तो करेंगे आंदोलन: तक्षक

अधिवक्ता संजीव तक्षक ने कहा कि पुलिस ने पहले तो बेकसूर बिंदर की गोली मारकर हत्या कर दी। अब स्थानीय पुलिस बिंदर के परिजनों को प्रताड़ित कर आरोपी पुलिस कर्मचारियों को बचाने का प्रयास कर रही है। पुलिस राहुल से मारपीट करने वाले पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज करें। ऐसा नहीं करने पर जल्द ही संगठनों की मदद से आंदोलन शुरू किया जाएगा।

सोमबीर की शिकायत पर राहुल को लेकर आई थी पुलिस: एसएचओ

​​​​​​​सिटी थाना के कार्यवाहक प्रभारी अनिल कुमार ने कहा कि शनिवार शाम वार्ड नंबर 19 निवासी सोमबीर सिंह ने पुलिस को शिकायत दी थी कि राहुल ने उसके साथ मारपीट की है। इसी आधार पर पुलिस रोज गार्डन के सामने से राहुल को थाने लेकर आई थी। यहां आने पर सोमबीर व राहुल में समझौता हो गया और दोनों को वापस भेज दिए थे।

खबरें और भी हैं...