जमीनी का मुआवजा बढ़वाने के लिए डीसी से मिले:उपायुक्त ने 15 दिन का मांगा समय, किसानों ने कहा वृद्धि नहीं हुई तो खापों के साथ मिल लेंगे फैसला

चरखी दादरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव खातीवास की जमीन पर कॉरिडोर के लिए  कार्य करती मशीन। - Dainik Bhaskar
गांव खातीवास की जमीन पर कॉरिडोर के लिए कार्य करती मशीन।

ग्रीन काॅरिडोर 152डी के लिए गांव खातीवास के किसानों की मंगलवार को उपायुक्त प्रदीप गोदारा के साथ बैठक हुई। बैठक में किसानों ने कॉरिडोर में आई जमीन की मुआवजा राशि बढ़वाने की मांग रखी। बैठक में खाप फौगाट प्रधान बलवंत सिंह फौगाट, अधिवक्ता रमेश दलाल, कमेटी प्रधान अनूप फौगाट इस बैठक में मौजूद थे।

किसानों के अनुसार जमीन का मुआवजा बढ़ौतरी को लेकर उपायुक्त से सकारात्मक बैठक हुई है। वहीं बैठक के बाद किसानों ने सख्त लहजे में कहा है कि जमीन का मुआवजा जल्द नहीं बढ़ाने पर प्रदेश की सभी खापों और विभिन्न संगठनों को साथ लेकर आंदोलन शुरु किया जाएगा। कमेटी प्रधान अनूप सिंह ने बताया कि गांव खातीवास में अधिग्रहण की गई जमीन का मुआवजा बढ़ाने को लेकर उपायुक्त प्रदीप गोदारा के साथ विस्तार से बातचीत हुई है। जिसमें अधिकारी भी मुआवजा दिलाने के लिए सकारात्मक हैं। उपायुक्त ने मुआवजा बढ़ौतरी को लेकर 10-15 दिन का समय किसानों से मांगा है। जिसमें वे मुआवजा वृद्धि को लेकर उच्च अधिकारियों को पत्र लिखेंगे।

प्रधान अनूप ने बताया कि इस दौरान मुआवजा बढ़ाने के कानूनी पहलू पर भी चर्चा की गई है। उन्होंने बताया कि कमेटी द्वारा हरियाणा की सभी खापों, सामाजिक संगठनों व संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों से भी बात की है। यदि 10-15 दिन में मुआवजा राशि नहीं बढ़ाई गई तो कमेटी द्वारा खापों, संगठनों व संयुक्त किसान मोर्चा के साथ मिलकर अगला कदम उठाया जाएगा।

ज्ञात रहे कि गांव खातीवास की 70 एकड़ जमीन से ग्रीन कॉरिडोर 152 डी का निर्माण किया जा रहा है। इस जमीन की मुआवजा राशि किसानों को 45-45 लाख रूपये दी गई है। लेकिन किसानों ने इसे कम बताते हुए चैक नहीं उठाए हैं। किसानों का कहना है कि उनकी जमीन की मार्केट वैल्यू 80 लाख रूपये है। इस आधार पर उन्हें प्रति एकड़ 2 करोड़ रूपये मुआवजा मिलना चाहिए। इस दौरान फौगाट खाप प्रवक्ता शमशेर सिंह, सीताराम, युद्धवीर सिंह, राजबीर व नत्थूराम आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...