प्रशासन की अनदेखी:श्रद्धालुओं को पानी के बीच से होकर जाना पड़ रहा मंदिर, जेई बोले-आज होगी निकासी

चरखी दादरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • घरों-दुकानों सहित मंदिरों में भी 2 से 3 फुट पानी जमा

नगर के कीकरवासनी स्थित सुप्रसिद्ध हनुमान व शिव मंदिर में पिछले 10 दिनों से सीवरेज की खस्ता हालात होने के कारण मंदिर में पानी घुसा हुआ है। पानी की निकासी का कोई मार्ग नहीं है जिस कारण वहां पर सीवरेज का पानी मंदिर में घुस जाता है। खाप फौगाट-19 के प्रधान बलवंत सिंह फौगाट तथा जन आंदोलन के संयोजक नितिन जांघू की अध्यक्षता में सभी सामाजिक संगठनों, धार्मिक संस्थाओं के व्यक्तियों की बैठक हुई। श्रावण माह का समय है। शिवभक्त प्रतिदिन मंदिर में जाते है, लेकिन पानी होने के कारण मंदिर में श्रद्धालुओं को पानी के बीच से होकर जाना पड़ रहा है। शिव मंदिर के गेट पर भी पानी जमा होने से कीचड़ जैसी समस्या उत्पन्न हो गई है।

इसको लेकर नगर की 36 बिरादरी एवं शिव भक्तों में भारी रोष है। बलवंत फौगाट ने बताया कि दादरी नगर में सीवरेज एवं पानी की बहुत बुरी व्यवस्था है, बरसात के समय लोगों के घरों व दुकानों के अंदर पानी आ जाता है, अब तो यहां हमारे पूजनीय स्थलों, मंदिरों का भी यही हाल है, प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है, प्रशासन को चाहे कितनी भी बार अवगत करवाते रहो, उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है। नितिन जांघू ने बताया कि मंदिर में जमा पानी की स्थिति को देखकर मौके पर एसडीएम से बात की गई, उन्होंने जनस्वास्थ्य विभाग के जेई अरूण कुमार को भेजा और मौका मुआयना करके अरूण कुमार ने कहा कि वे जल्द ही मोटर लगाकर रविवार तक पानी निकालने का भरसक प्रयास करेंगे। इस अवसर पर नितिन जांघू ने क्षेत्र के लोगों से अपील भी कि है कि जनआंदोलन द्वारा 15 अगस्त को अग्रसेन धर्मशाला में व्यापार मण्डल के कार्यकारी अध्यक्ष रविंद्र गुप्ता की अध्यक्षता में सभी व्यापारियों व शहर के गणमान्य व्यक्तियों की शहर की सीवरेज एवं पेयजल व्यवस्था को लेकर एक आवश्यक समीक्षा बैठक आयोजित की जा रही हैै, उसमें अधिक से अधिक संख्या में भाग लें तथा अपने विचार रखें।

खबरें और भी हैं...